News Nation Logo
Banner

BJP नेता ने कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री की तुलना PFI से की, कहा- दोनों के बीच कोई अंतर नहीं

BJP नेता ने कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री की तुलना PFI से की, कहा- दोनों के बीच कोई अंतर नहीं

News Nation Bureau | Edited By : Sanjeev Mathur | Updated on: 20 Feb 2021, 02:53:02 PM
ks eshwarappa

कर्नाटक के मंत्री व बीजेपी नेता केएस ईश्वरप्पा (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • सिद्धारमैया कांग्रेस पार्टी को नष्ट करने के लिए पर्याप्त हैं
  • भारतीय जनता पार्टी   चुनाव में किसी भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं देगी
  • 'बीजेपी को छोड़कर किसी भी पार्टी में लोकतांत्रिक व्यवस्था नहीं है.

 

 

 

 

बंगलुरू:

कर्नाटक के ग्रामीण विकास मंत्री केएस ईश्वरप्पा (KS Ishwarappa) काे लगता है विवादों से खासा लगाव है. वह अपने बयानों से लगातार विवादों और सुर्खियों में बने रहते हैं. शनिवार को उन्‍होंने एक बार फिर से एक  विवादस्‍पद बयान  दिया है. अपने इस बयान में ईश्वरप्पा ने पूर्व सीएम सिद्धारमैया और द पापुलर फ्रंट आफ इंडिया (पीएफआई) की आपस में तुलना करते हुए कहा कि सिद्धारमैया और पीएफआई के बीच कोई अंतर नहीं है, वे एक हैं, पीएफआई लोगों से कहती है कि वह राम मंदिर के लिए योगदान न करें क्योंकि यह विवादित भूमि है, सिद्धारमैया भी ऐसा ही कहते हैं। उनकी भी यही राय है.

कर्नाटक के मंत्री व बीजेपी (BJP) नेता केएस ईश्वरप्पा ने आरक्षण को लेकर शनिवार को कहा कि ''हमारे सरकार ने एक सेवानिवृत्त हाई कोर्ट न्यायाधीश के नेतृत्व में एक समिति बनाने का फैसला किया है. यह सभी समुदायों की जानकारी एकत्र कर राज्य मंत्रिमंडल को देगा और उस रिपोर्ट के आधार पर निर्णय लेंगे. हम उन समुदायों को अपना समर्थन देंगे, जो पात्र हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि सिद्धारमैया कांग्रेस पार्टी को नष्ट करने के लिए पर्याप्त हैं. इसी तरह, एचडी कुमारस्वामी भी अपनी पार्टी को नष्ट कर रहे हैं. यहां तक कि गरीब भी राम मंदिर के लिए 10 रुपये दे रहे हैं. सिद्धारमैया का कहना है कि यह विवादित भूमि है, इसलिए वह योगदान नहीं देंगे. उन्होंने कहा कि पीएफआई लोगों से कहती है कि वह (राम मंदिर के लिए) योगदान ना करें, क्योंकि यह विवादित भूमि है, सिद्धारमैया भी ऐसा ही कहते हैं. उनकी भी यही राय है. सिद्धारमैया और पीएफआई के बीच कोई अंतर नहीं है, वे एक हैं.

यह भी पढ़ेंः जातिवाद के दंश से बच नहीं पाए थे स्‍वराज के जनक छत्रपति शिवाजी 

सिद्धारमैया पर पहले भी हमलावर रहे है 

केएस ईश्वरप्पा ने पहले भी पूर्व सीएम पर तंज कसा था. तब उन्‍होंने गायों की सुरक्षा के मसले पर सिद्धारमैया और कांग्रेस पर सवाल उठाए थे.  ईश्वरप्पा  ने कहा था कि  राज्य सरकार गायों की सुरक्षा को लेकर विधानसभा में एक बिल लाने जा रही है तो वहीं कांग्रेस इसकी आलोचना कर रही है. बीजेपी नेता और राज्य के ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री के एस ईश्वरप्पा ने पूर्व सीएम  पर हमला करते हुए कहा था कि ,'क्या वे अपनी बूढ़ी माता को दूसरो के घर के सामने छोड़ देंगे.  हम गाय को अपनी माता के समान मानते हैं, सिद्धारमैया भी गायों को माता के समान ही मानते हैं, क्या सिद्धारमैया अपनी मां को किसी और के घर के सामने छोड़ देंगे? सिद्धारमैया देश के करोड़ों लोगों की भावनाओं को ठेस क्यों पहुंचा रहे हैं?'

यह भी पढ़ेंः 'ये मूर्ख नहीं जानता कि मैं दीपिका, कैटरीना या आलिया नहीं हूं.': कंगना

मुसलमानों को टिकट नहीं देंगे

इससे पहले  केएस ईश्वरप्पा  ने बड़ा बयान दिया था. बीजेपी नेता और येदयुरप्पा सरकार में मंत्री ईश्वरप्पा ने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी  इस चुनाव में किसी भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं देगी.  न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक ईश्वरप्पा ने कहा था , ‘हम किसी भी हिन्दू समुदाय को पार्टी टिकट दे सकते हैं. कुरूबा, लिंगायत, वोक्कलिगा या ब्राह्मण समुदाय में से किसी भी हम ये (टिकट) दे सकते हैं. लेकिन निश्चित रूप से मुसलमानों को टिकट नहीं दिया जाएगा.' उन्होंने कहा, 'बीजेपी को छोड़कर किसी भी पार्टी में लोकतांत्रिक व्यवस्था नहीं है.’

First Published : 20 Feb 2021, 02:47:15 PM

For all the Latest States News, South India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो