News Nation Logo

केरल में विधानसभा का विशेष सत्र, कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा कि वर्तमान हालात यह साफ करते है कि यदि यह आंदोलन जारी रहा, तो यह केरल को गंभीर रूप से प्रभावित करेगा. इस बात में कोई शक नहीं है कि अगर अन्य राज्यों के खाद्य पदार्थों की आपूर्ति बंद हो जाती है तो केरल भूखा रहेगा.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 31 Dec 2020, 12:32:45 PM
Kerala Assembly passes resolution against the three farm laws

केरल में विधानसभा का विशेष सत्र (Photo Credit: @ANI)

तिरुवनंतपुरम:

कृषि कानूनों के खिलाफ केरल में विधानसभा का एक दिन का विशेष सत्र बुलाया गया. इस विशेष सत्र में केंद्र के कृषि कानूनों पर चर्चा हुई. केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने विधानसभा के विशेष सत्र में केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव रखा. हालांकि, बीजेपी ने इसका विरोध किया है. बता दें कि देश में जारी किसान आंदोलन के बीच केरल में विधानसभा का ये विशेष सत्र बुलाया गया.

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी बोले- टीका हर जरूरी घर तक पहुंचे, इसके लिए तैयारी अंतिम चरण में

विधानसभा में रखा गए इस प्रस्ताव में कहा गया है कि देश एक मुश्किल दौर से गुजर रहा है और आंदोलनकारी किसानों के साथ खड़ा होना राज्य सरकार का कर्तव्य है. प्रस्ताव में ये भी कहा गया है कि आंदोलन खराब मौसम के बीच हो रहा है. मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा, तीनों कानून केवल बड़े कॉर्पोरेट घरानों की मदद करेंगे.

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री मोदी बोले- 2021 में दवाई भी लेनी है, कड़ाई भी रखनी है

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा कि वर्तमान हालात यह साफ करते है कि यदि यह आंदोलन जारी रहा, तो यह केरल को गंभीर रूप से प्रभावित करेगा. इस बात में कोई शक नहीं है कि अगर अन्य राज्यों के खाद्य पदार्थों की आपूर्ति बंद हो जाती है तो केरल भूखा रहेगा. बता दें कि इससे पहले राज्यपाल ने विधानसभा के विशेष सत्र के लिए कैबिनेट की सिफारिश को स्वीकार करने से मना कर दिया था.

First Published : 31 Dec 2020, 12:28:41 PM

For all the Latest States News, South India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.