News Nation Logo

Cyclone Nivar के भीषण रूप लेने की आशंका, 110km प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं

भारत मौसम विज्ञान विभाग पूवार्नुमान और राज्य प्राधिकरणों की आवश्यकताओं को देखते हुए, 22 टीमों (तमिलनाडु में 12 टीमों, पुडुचेरी में तीन टीमों और आंध्र प्रदेश में सात टीमों को संभावित प्रभावित क्षेत्रों में पूर्व-तैनात किया गया है.

By : Shailendra Kumar | Updated on: 25 Nov 2020, 06:58:12 AM
Cyclone Nivar

निवार साइक्लोन (Photo Credit: IANS)

चेन्नई:

चक्रवाती तूफान 'निवार' पुडुचेरी के पूर्व-दक्षिण पूर्व में 380 किमी और चेन्नई से 430 किमी दक्षिण-पूर्व में केंद्रत है. इसके और तेजी से बढ़ने और भीषण रूप लेने की आशंका है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मंगलवार को यह जानकारी दी. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) से प्राप्त जानकारी के आधार पर, मंत्रालय ने कहा कि चक्रवात की पुडुचेरी के आसपास कराईकल और मामल्लपुरम के बीच तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों को पार करने की संभावना है. इस दौरान 100 से 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से रफ्तार से हवाएं चलेंगी. हवा 120 किमी प्रति घंटे तक की रफ्तार को भी छू सकती है.

भारतीय मौसम विभाग ने तमिलनाडु और पुडुचेरी में हाई अलर्ट जारी किया है. कई इलाकों में तेज बारिश और जलभराव की समस्या देखने को मिल रही है. इसी बीच इंडिगो ने चक्रवात निवार के कारण दक्षिण क्षेत्र में या मुख्य रूप से चेन्नई जाने वाली उड़ानों को बाधित किया है. एयरलाइन्स कंपनी इंडिगो की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि बुधवार (25 नवंबर) को 49 उड़ानों को रद्द किया गया है. हालांकि 26 नवंबर को फ्लाइट्स का संचालन होगा या नहीं इसका फैसला स्थिति को ध्यान में रखकर किया जाएगा.

यह भी पढ़ें : कांग्रेस नेता अहमद पटेल का निधन, एक महीना पहले हुए थे कोरोना संक्रमित

चक्रवाती तूफान के ऊपर नजदीकी नजर रखी जा रही है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) मुख्यालय, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में स्थित बटालियनों के कमांडेंट, संबंधित राज्य अधिकारियों के साथ समन्वय में हैं. भारत मौसम विज्ञान विभाग पूवार्नुमान और राज्य प्राधिकरणों की आवश्यकताओं को देखते हुए, 22 टीमों (तमिलनाडु में 12 टीमों, पुडुचेरी में तीन टीमों और आंध्र प्रदेश में सात टीमों को संभावित प्रभावित क्षेत्रों में पूर्व-तैनात किया गया है.

यह भी पढ़ें : दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, 24 घंटे में 100 लोगों की गई जान, 6224 नए केस आए सामने

अतिरिक्त आवश्यकता को पूरा करने के लिए टीमों को गुंटूर (आंध्र प्रदेश), त्रिशूर (केरल) और मुंडली (ओडिशा) में रिजर्व रखा गया है. सभी टीम के पास लैंड फॉल के बाद बहाली के लिए विश्वसनीय वायरलेस और सैटेलाइट संचार, ट्री कटर/पोल कटर हैं. वर्तमान कोविड-19 परि²श्य के मद्देनजर, एनडीआरएफ की टीमें उपयुक्त पीपीई से सुसज्जित हैं.

यह भी पढ़ें : 'लव जिहाद' शब्द से धर्म के बाहर शादी करने वाले कपल को रही परेशानी

एनडीआरएफ जिला और स्थानीय प्रशासन के साथ निकट समन्वय में काम कर रहा है. चक्रवात के बारे में जानकारी के लिए सभी नागरिकों के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है कि क्या करना है - क्या नहीं करना है और प्रभावित क्षेत्रों में कोविड-19 और इसे रोकने के उपायों के बारे में जानकारी दी जा रही है.

यह भी पढ़ें : सना खान ने शेयर किया वलीमा लुक, वायरल हो रहा Video

सभी तैनात दल चक्रवात से प्रभावित होने वाले क्षेत्रों से लोगों को निकालने में स्थानीय प्रशासन की सहायता कर रहे हैं. एनडीआरएफ, समुदाय के बीच सुरक्षा की भावना फैला रहा है कि एनडीआरएफ टीमें आपकी सेवा में उपलब्ध हैं और जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती, तब तक क्षेत्र में मौजूद रहेगी, ताकि जनता घबराए नहीं.

 

First Published : 25 Nov 2020, 06:51:39 AM

For all the Latest States News, South India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.