logo-image
लोकसभा चुनाव

Rajasthan: हाथ-पैर बांध कर बेरहमी से पिटाई... शराब माफिया ने युवक को ऐसे दी दर्दनाक मौत

Rajasthan: राजस्थान के झुंझुनूं का एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है...वीडियो में कुछ लोग एक शख्स के हाथ-पैर बांधकर बेरहमी से पिटाई कर रहे हैं.

Updated on: 21 May 2024, 05:55 PM

New Delhi:

Rajasthan: झुंझुनूं के सूरजगढ़ थाना इलाके में 14 मई को बलोदा गाँव में शराब माफियाओं द्वारा गाँव के युवक रामेश्वर वाल्मीकि का अपहरण कर बेहरमी से मारपीट कर हत्या कर देने के मामलें में अब शराब माफियाओं द्वारा युवक के साथ बर्बरतापूर्वक की गई मारपीट का दो वीडियो सामने आये हैं.  वीडियो में शराब माफिया युवक के पैर बांध कर लाठियों से जमकर मारपीट कर रहे हैं. युवक के हाथ पैर दो युवक पकड़े हुए हैं, जबकि एक युवक लाठी से जमकर मारपीट कर रहा हैं. मामले में पांच आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.  जानकारी के मुताबिक युवक रामेश्वर का शराब माफिया अपहरण कर ले गए थे, जिसके बाद एक हवेली में बेरहमी से मारपीट की जिसके कारण युवक की मौत हो गई. इसके बाद शराब माफिया युवक को उसके घर के सामने डाल कर चले गए थे. इस प्रकरण में मामला दर्ज होने के बाद सूरजगढ़ थाने के हिस्ट्रीशीटर दीपेंद्र उर्फ चिंटू राजपूत निवासी बलौदा, प्रवीण उर्फ पीके मेघवाल निवासी बलौदा, प्रवीण उर्फ बाबा मेघवाल निवासी उरीका, सुभाष उर्फ चिंटू मेघवाल निवासी बलौदा तथा सतीश उर्फ सुखा मेघवाल निवासी बलौदा को गिरफ्तार कर लिया है. 

हिस्ट्रीशीटर समेत पांच आरोपी गिरफ्तार 

झुंझुनूं एसपी राजर्षि राज वर्मा ने बताया कि हत्या के मामले का राजफाश करते हुए एक हिस्ट्रीशीटर समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार ​कर लिया है. वहीं इसी मामले में शामिल एक नाबालिग को भी निरूद्ध किया गया है.  दरअसल मृतक रामेश्वर वाल्मिकी शराब पीने का आदि था.  बताया जा रहा है कि इन दिनों वह गांव के शराब ठेके से शराब लेने की बजाय कहीं से हथकढ़ शराब का जुगाड़ कर सेवन कर रहा था.  उसे डराने और सबक सिखाने के लिए आरोपियों ने उसका और उसके साथ जेठूराम नायक नाम के व्यक्ति का अपहरण किया. इसके बाद अपने शराब की गोदाम में ले जाकर दोनों के साथ बेरहमी से मारपीट की थी. मारपीट के दौरान जब रामेश्वर वाल्मिकी बेहोश हो गया तो आरोपियों ने उसको इलाज करवाने के लिए सतनाली के अस्पताल में भी भर्ती कराया.  लेकिन वहां डॉक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया.

हत्या के बाद शव को घर के बाहर फेंक गए आरोपी

इसके बाद आरोपी रामेश्वर वाल्मिकी का शव उसके घर पर फेंक कर चले गए. इस मामले में पुलिस ने सूरजगढ़ थाने के हिस्ट्रीशीटर दीपेंद्र उर्फ चिंटू राजपूत निवासी बलौदा, प्रवीण उर्फ पीके मेघवाल निवासी बलौदा, प्रवीण उर्फ बाबा मेघवाल निवासी उरीका, सुभाष उर्फ चिंटू मेघवाल निवासी बलौदा तथा सतीश उर्फ सुखा मेघवाल निवासी बलौदा को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं एक नाबालिग को निरूद्ध किया है. एसपी ने बताया कि रामेश्वर और जेठूराम को अपनी बाइक पर जबरदस्ती चिंटू मेघवाल और नाबालिग ही बैठाकर ले गए थे. इसके बाद उनके साथ मारपीट की गई. पुलिस पूछताछ में यह भी सामने आया है कि हिस्ट्रीशीटर दीपेंद्र उर्फ चिंटू ही इनदिनों बलौदा का शराब ठेका चला रहा था. उसे ना केवल पूरी घटना का पता था. बल्कि सतनाली अस्पताल तक ले जाने और घर पर छोड़ जाने वाले  हिस्ट्रीशीटरों में दीपेंद्र उर्फ चिंटू शामिल था. पुलिस इस मामले में एक संदिग्ध की तलाश में जुटी है.  गिरफ्तार पांच आरोपियों में से एक हिस्ट्रीशीटर है तो प्रवीण उर्फ पीके पर चार, प्रवीण उर्फ बाबा पर तीन तथा सुभाष उर्फ चिंटू पर एक मुकदमा पूर्व में दर्ज है.