News Nation Logo

राजस्थान: बूंदी में बारिश के कारण बिल्डिंग की दीवार गिरने से 7 लोगों की मौत

राजस्थान ( Rajasthan ) के बूंदी में भारी बारिश के चलते एक इमरात की दीवार गिरने से बड़ा हादसा हो गया है

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 04 Aug 2021, 07:54:50 PM
Rajasthan

Rajasthan (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

​राजस्थान ( Rajasthan ) के बूंदी जिले से बड़ी खबर सामने आई है. यहां नवघाट में भारी बारिश के चलते एक इमरात की दीवार गिरने से बड़ा हादसा हो गया है. इस हादसे में मलबे में दबकर सात लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है. बूंदी जिले के कलेक्टर आशीष गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि तड़के करीब तीन बजे भारी बारिश के कारण एक इमारत की दीवार गिर गई. उन्होंने बताया कि  एसडीआरएफ की टीम को घटनास्थाल पर तैनात किया गया है. मौके पर राहत व बचाव कार्य जारी है.

यह भी पढ़ें : Tokyo Olympics 2020 महिला हॉकी : अर्जेंटीना ने भारत को हराया, कांस्य पदक की उम्मीद बाकी

बुधवार को लगातार बारिश के बाद बूंदी जिले के केशोरईपाटन कस्बे में एक घर गिरने से चार बच्चों, दो महिलाओं और एक पुरुष सहित एक परिवार के सात सदस्यों की मौत हो गई. राजस्थान के हाड़ौती संभाग में बारिश का कहर जारी है. शवों को मलबे से बाहर निकाल लिया गया है और समाचार लिखे जाने तक मोर्चरी में रखवा दिया गया है. अधिकारियों ने बताया कि नाव घाट के पास टीले से मिट्टी के कटाव को रोकने के लिए नगर पालिका द्वारा कुछ साल पहले चंबल के तट पर सुरक्षा दीवार बनाई गई थी. लगातार बारिश के कारण सुरक्षा दीवार टूट कर घर पर गिर गई. घटना बुधवार दोपहर 2.30 बजे की है। नाव घाट के समीप रहने वाले दो भाइयों महावीर व महेंद्र केवट का परिवार अचानक मकान गिरने से मलबे में दब गया.

यह भी पढ़ें : PM नरेंद्र मोदी ने की महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल से बात, कही ये बात 

हादसे में महावीर की पत्नी मीरा (40), महावीर की पुत्री तमन्ना (9), सुखलाल के पुत्र महेंद्र (35), महेंद्र की पत्नी अनीता (32), महेंद्र की पुत्री दीपिका (7), कान्हा (5) महेंद्र के पुत्र खुशी (10) की मृत्यु हो गई. घर से बाहर रहने के कारण महावीर मौत के चंगुल में फंसने से बच गए. घटना के वक्त घर में आठ लोग मौजूद थे. गिरने की आवाज सुनकर महावीर तुरंत घर से बाहर आ गए. उन्होंने बेटी तमन्ना और पत्नी मीरा को भी बाहर निकाला. लेकिन तब तक बेटी की मौत हो चुकी थी. हालांकि उनकी पत्नी को कोटा एमबीएस अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. महावीर का पुत्र सुरेश अपने नाना-नानी के घर गया था और इसलिए वह बच गया है. पुलिस उपाधीक्षक नीतिराज सिंह ने कहा कि बचाव अभियान जारी है. एसडीआरएफ और नागरिक सुरक्षा बचाव दल शवों को बाहर निकालने के लिए एक संयुक्त अभियान में लगे हुए है.

First Published : 04 Aug 2021, 07:04:01 PM

For all the Latest States News, Rajasthan News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.