logo-image
लोकसभा चुनाव

Jodhpur Communal clashes: जोधपुर में भड़की सांप्रदायिक हिंसा, 51 हिरासत में, 2 पुलिसकर्मी घायल

राजस्थान की जोधपुर पुलिस ने शुक्रवार देर रात सूरसागर इलाके में दो धार्मिक समूहों के बीच हुई हिंसक झड़प के सिलसिले में शनिवार को तकरीबन 51 लोगों को हिरासत में लिया है.

Updated on: 22 Jun 2024, 05:12 PM

नई दिल्ली:

राजस्थान की जोधपुर पुलिस ने शुक्रवार देर रात सूरसागर इलाके में दो धार्मिक समूहों के बीच हुई हिंसक झड़प के सिलसिले में शनिवार को तकरीबन 51 लोगों को हिरासत में लिया है. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, ये विवाद राजाराम सर्कल के पास एक ईदगाह में दो नए गेट लगाने को लेकर शुरू हुआ था. जोधपुर के पुलिस आयुक्त राजेंद्र सिंह ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि, "विवाद पिछले कुछ दिनों से चल रहा है... घटना (शुक्रवार को) रात करीब 10:15 बजे हुई, जब 10 से 15 स्थानीय लोगों के एक समूह ने ईदगाह से दूसरे समूह पर पथराव किया."

सिंह ने बताया कि, तनाव बढ़ने पर भीड़ ने एक स्थानीय दुकान में आग लगा दी और एक पुलिस वैन समेत दो कारों में तोड़फोड़ की. मामले से परिचित पुलिस अधिकारियों के अनुसार, ईदगाह की पिछली दीवार पर दो नए गेट की स्थापना को लेकर पिछले कुछ दिनों से विवाद चल रहा है. स्थानीय लोगों का आरोप था कि, उनके निर्माण में स्थानीय नगर पालिका के कानूनी प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया है. 

सिंह ने बताया कि, जब कर्मचारी शुक्रवार रात ईदगाह में गेट का उद्घाटन करने के लिए आगे बढ़े, तो स्थानीय लोगों ने विरोध किया. हालांकि, पुलिस और स्थानीय नगर पालिका अधिकारी मौके पर पहुंचे और रात करीब साढ़े नौ बजे दोनों समूहों के पांच सदस्यों की मौजूदगी में बातचीत के बाद मामला सुलझ गया. समझौते के कारण तुरंत गेट बंद कर दिए गए और भीड़ तितर-बितर हो गई.

हालांकि तनाव उस समय फैल गया, जब व्यापारियों का मोहल्ला में 10 से 15 लोगों के एक समूह ने अचानक पथराव शुरू कर दिया और दूसरे समूह की ओर से जवाबी कार्रवाई सामने आई और देखते ही देखते विवाद दो धार्मिक समूहों के बीच हिंसक झड़प में तबदील हो गया.