News Nation Logo

वन विभाग की टीम के सामने चार बच्चों के पिता ने पेट्रोल डालकर खुद को लगाई आग, हालत गंभीर

घायल को नजदीकी अस्पताल में प्राथमिक उपचार देकर किया रेफर, हालत गंभीर, अतिक्रमण हटाने गई थी टीम

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 07 Jul 2019, 10:26:13 PM
four-children-father-put-gasoline-in-front-of-the-forest-department

highlights

  • चार बच्चों के पिता ने की आत्मदाम
  • वन विभाग की टीम के सामने लगाई आग
  • अस्पताल में भर्ती, हालत नाजुक

ऩई दिल्ली:  

राजस्थान के झुंझुनू जिले के गुढ़ागौडजी क्षेत्र के गांव गुड़ा में अतिक्रमण हटाने गई वन विभाग की टीम को देखकर गुस्साए एक अधेड़ ने खुद पर पेट्रोल छिड़क लिया और विभाग की टीम के सामने ही खुद को आग लगा दी. आत्मदाह करते देख वन विभाग की टीम एकबारगी तो भौचक रह गई. बाद में मौका पाकर फरार हो गई. घटना में आत्मदाह करने वाला चार बच्चों का पिता गंभीर रूप से झुलस गया.

यह भी पढ़ें - राजस्थान : अवैध वसूली करतीं गुजरात की एक दर्जन से अधिक युवतियां गिरफ्तार

घायल को नजदीकी राजकीय अस्पताल से प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत में जयपुर रेफर कर दिया गया. जानकारी के अनुसार वन विभाग की 25 सदस्यीय टीम रविवार को गुढा गांव में बाबूलाल के घर पहुंची थी. घर को अतिक्रमण बताते हुए टीम ने उसे हटाने की बात कही. जिस पर बाबूलाल बिफर गया और टीम से कुछ देर जद्दोजहद के बाद उसने पेट्रोल लाकर खुद पर छिड़क लिया.

यह भी पढ़ें - राजस्थान : सीरियल रेपिस्ट सिकंदर को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 7 साल की बच्ची के साथ की दरिंदगी

विभाग की टीम कुछ समझ पाती, उससे पहले ही उसने खुद को आग के हवाले कर दिया. जिस पर अतिक्रमण हटाने गया दस्ता घबरा गया और वहां से भाग गया. घटना के बाद नजदीकी लोगों ने बाबूलाल को झुंझुनू के बीडीके अस्पताल पहुंचाया. जहां हालत गंभीर होने पर प्राथमिक उपचार के बाद उसे जयपुर रेफर कर दिया गया. जहां भी उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है.

बिना नोटिस दिए पहुंची टीम

बाबूलाल घर में चार बच्चों के साथ रहता है. उसके दो बेटे और दो बेटियां हैं. वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बाबूलाल का मकान वन विभाग की जमीन पर बनाया गया है. जिसको लेकर मकान बनाते समय भी उसे आगाह किया गया था. बार बार कहने पर भी वह नहीं माना तो विभाग की टीम ने उसके घर पर अतिक्रमण का नोटिस चस्पा कर दिया था. जिसके मुताबिक ही आज टीम कार्रवाई के लिए पहुंची थी. वहीं, बाबूलाल के परिजनों का कहना है कि वन विभाग की ओर से घर पर कोई नोटिस चस्पा नहीं किया गया था. विभाग की टीम ने आज घर पहुंचकर सीधे बाबूलाल को बाहर निकालने की धमकी दी. जिससे व्यथित बाबूलाल ने खुद पर पेट्रोल छिड़कर कर आत्मदाह करने की कोशिश की. इस मामले में बाबूलाल के भाई मोतीलाल ने वन विभाग के खिलाफ पुलिस में प्रताडऩा का मुकदमा दर्ज कराया है.

First Published : 07 Jul 2019, 10:26:13 PM

For all the Latest States News, Rajasthan News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.