News Nation Logo
Banner

राजस्थान में नवजातों की मौत पर बोले चिकित्सा शिक्षा सचिव, 48 घंटों में रिपोर्ट होगी सामने

नवजातों की मौत पर अब राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बयान आया है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 27 Dec 2019, 11:48:22 PM
अशोक गहलोत

नई दिल्‍ली:

राजस्थान (Rajasthan) के कोटा (Kota) स्थित जेके लोन सरकारी अस्पताल में 2 दिनों के अंदर 10 नवजात की मौत हो चुकी है. वहीं चिकित्सा शिक्षा विभाग के सचिव वैभव गालरिया ने 2 घंटे की मीटिंग के बाद कहा कि, एनआईसीयू में लगेगी सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन और सभी उपकरणों की एनुअल मेंटेनेंस होगी. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि आने वाले 48 घंटों में आएगी हॉस्पिटल की बिगड़ी हुई व्यवस्थाओं जांच रिपोर्ट सबके सामने होगी 2 दिन में 10 बच्चों की मौत के मामले के बाद जेके लोन हॉस्पिटल की व्यवस्थाओं का जायजा लेने पहुंचे चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया ने मीडिया से बातचीत करते हुए ये जानकारियां दी है. 

वहीं राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कोटा के जेकेलोन अस्पताल में बच्चों की मृत्यु के मामले में अत्यंत गंभीरता बरतने तथा समुचित उपचार सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. डॉ शर्मा ने इस मामले की जानकारी मिलने पर वरिष्ट अधिकारियों से जानकारी ली एवं उन्हें अस्पताल में भर्ती बच्चों के उपचार के लिए सभी आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है.

वहीं नवजातों की मौत पर अब राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बयान आया है. सीएम अशोक गहलोत ने मीडिया को बताया कि हमने वरिष्ठ अधिकारियों और डॉक्टरों को मामले की छानबीन करने के लिए भेजा है. हम पूरे मामले पर नजर बनाए हुए हैं. आपको बता दें कि राजस्थान में एक के बाद एक करके जेके लॉन अस्पताल में 10 नवजातों की मौत हो गई जिसके बाद लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने नाराजगी दिखाते हुए राज्य सरकार को तुरंत मामले में कार्रवाई करने का आदेश दिया. हालांकि अस्पताल प्रशासन ने भी मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं. आपको बता दें कि मौजूदा लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला राजस्थान के कोटा से सांसद हैं.

यह भी पढ़ें-राजस्थान: 2 दिन में 10 नवजात शिशुओं की मौत, कोटा MP ओम बिरला ने राज्य सरकार से कार्रवाई की मांग की

कोटा से सांसद और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने कहा कि कोटा के एक मातृ एवं शिशु अस्पताल में पिछले 48 घंटे में 10 नवजातों की असामयिक मौत का मामला चिंता का विषय है. उन्होंने कहा कि बच्चों की मौत के मामले में राजस्थान सरकार को तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए. अस्पताल के अफसरों के अनुसार, 23 दिसंबर को छह बच्चों की मौत हुई, जबकि 24 दिसंबर को चार बच्चों ने दम तोड़ा था.

यह भी पढ़ें-CAA के खिलाफ BHU प्रोफेसरों ने हस्ताक्षर अभियान को बताया फर्जी, कहा-लेटर के कंटेट से हुई छेड़छाड़

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javdekar) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर निशाना साधते हुए कहा कि राजस्थान में कांग्रेस सरकार है, जहां एक अस्पताल में एक महीने में 77 बच्चों की मृत्यु हुई है. अगर राहुल गांधी को जाना है तो वहां जाएं और अपनी सरकार को सुधारें. उसके बजाय ये बेतुके बयान देना बंद करें. बताया जा रहा है कि शुक्रवार को अस्पताल में फिर दो नवजातों की मौत हुई है. इससे पहले 48 घंटों में 10 बच्चों की मौत हो चुकी है. साल 2019 में 942 नवजातों की मौत हो चुकी है. बच्चों की मौत को मुख्यमंत्री ने गंभीरता से लिया है. चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया ने भी कोटा अस्पताल का निरीक्षण किया है. इसे लेकर उन्होंने अस्पताल प्रशासन की मीटिंग ली और उन्हें जरूरी दिशा-निर्देश दिए हैं.

First Published : 27 Dec 2019, 07:32:40 PM

For all the Latest States News, Rajasthan News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.