News Nation Logo
Banner

अशोक गहलोत सरकार का बड़ा फैसला- राजस्थान में लॉकडाउन जारी रहने तक छात्रों से अग्रिम फीस न लें

कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते खतरे को देखते हुए राज्य सरकार ने अभिभावकों को बड़ी राहत दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 09 Apr 2020, 10:14:29 PM
ashokj gehlot

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते खतरे को देखते हुए राज्य सरकार ने अभिभावकों को बड़ी राहत दी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने गुरुवार को शिक्षा विभागों की समीक्षा करते हुए यह निर्देश दिए कि लॉकडाउन के जारी रहने तक सभी स्कूल संचालक विद्यार्थियों से तीन माह की अग्रिम फीस नहीं लें. फीस के अभाव में किसी भी छात्र का नाम नहीं काटा जाए. 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं वाले विद्यार्थियों को छोड़कर अन्य सभी स्कूली विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रदोन्नत किया जाए.

यह भी पढ़ेंःयूपी-दिल्ली के बाद मध्य प्रदेश सरकार का बड़ा फैसला- 15 जिलों के हॉटस्पॉट एरिया आज रात से सील, देखें List

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि स्कूलों, कॉलेजों में यथासम्भव ऑनलाइन लेक्चर, ई-लर्निंग की व्यवस्था की जाए, ताकि विद्यार्थियों की पढ़ाई में निरन्तरता बनी रहे और वे घर पर रहकर भी समय का सदुपयोग कर सकें. वीडियो कांफ्रेंसिंग में निर्णय लिया गया कि प्रदेश के सभी उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा से जुडे़ संस्थानों में 15 अप्रैल से ग्रीष्म अवकाश घोषित किया जा सकता है. लेकिन स्कूलों में 15 अप्रैल से ग्रीष्म अवकाश नहीं होगा.

राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय से सम्बद्ध संस्थानों में लॉकडाउन हटने के बाद आठवें सेमेस्टर की परीक्षाएं प्राथमिकता से करवाने का भी निर्णय लिया गया. कॉन्फ्रेंस में मुख्य सचिव डीबी गुप्ता, शासन सचिव उच्च शिक्षा शुचि शर्मा, शासन सचिव स्कूल शिक्षा मंजू राजपाल और आयुक्त कॉलेज शिक्षा प्रदीप बोरड़ सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे.

सुझाव के लिए बनाई समिति

कॉन्फ्रेंस में उच्च शिक्षा राज्यमंत्री भंवर सिंह भाटी ने बताया कि उच्च शिक्षा विभाग ने विश्वविद्यालय परीक्षाओं के शेड्यूल के निर्धारण के लिए एक 5 सदस्यीय समिति बनाई है, जो लॉकडाउन हटने के बाद परीक्षाओं और आगामी शैक्षणिक सत्र के संचालन के बारे में सुझाव देगी. समिति में राजस्थान विश्वविद्यालय, जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय, मोहनलाल सुखाडि़या विश्वविद्यालय के कुलपति, आयुक्त कॉलेज शिक्षा और संयुक्त शासन सचिव उच्च शिक्षा शामिल हैं.

यह भी पढ़ेंःएशिया की सबसे बड़ी झुग्गी धारावी में कोरोना वायरस से 70 साल की महिला की मौत

सभी कक्षाओं की किताबें ऑनलाइन

शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया कि सभी कक्षाओं की किताबें ऑनलाइन उपलब्ध करवा दी गई हैं. अब विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन कन्टेन्ट तैयार करने का कार्य किया जा रहा है ताकि घर पर रहकर भी बच्चे अपनी पढ़ाई जारी रख सकें.

ई-कन्टेन्ट के लिए यू-ट्यूब चैनल तैयार

तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने बताया कि तकनीकी शिक्षण संस्थानों में मिड सेमेस्टर परीक्षाएं ऑनलाइन पूरी कराई जा चुकी हैं. विद्यार्थियों को ई-कन्टेन्ट उपलब्ध करवाने के लिए एक यू-ट्यूब चैनल तैयार किया गया है, जिस पर 600 से अधिक लेक्चर अपलोड किए गए हैं. अध्यापकों को अधिक से अधिक ई-कन्टेन्ट तैयार करने के लिए निर्देश दिए गए हैं.

First Published : 09 Apr 2020, 10:10:15 PM

For all the Latest States News, Rajasthan News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.