logo-image
लोकसभा चुनाव

राजस्‍थान में बेकाबू ट्राले ने बारात को कुचला, 13 बारातियों की मौत, दो दर्जन लोग घायल

राजस्थान में सोमवार देर रात हुए सड़क हादसे में 13 बारातियों की मौत हो गई

Updated on: 19 Feb 2019, 08:24 AM

जयपुर:

राजस्थान में सोमवार देर रात हुए दर्दनाक सड़क हादसे में 13 बारातियों की मौत हो गई और दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए. पांच घायलों की स्थिति नाजुक बताई जा रही है. सभी घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती करा दिय़ा गया है. हादसे के बाद क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई. छोटी सादड़ी पुलिस मामले की जांच जुटी हुई है.

पुलिस के अनुसार, प्रतापगढ़ जिले के छोटी सादड़ी में नेशनल हाईवे संख्या-113 के पास देर रात करीब 10 बजे एक बारात जा रही थी. इस दौरान वहां से एक बेकाबू ट्रॉला गुजरा और बारातियों को कुचला हुआ पेड़ से जाकर टकरा गया. हादसा इतना भयानक था कि शवों के चीथड़े दूर-दूर तक फैल गए. हाईवे से गुजर रहे वाहनों ने पुलिस को सूचना दी तो बड़ी सादड़ी पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को आसपास के अस्पतालों में पहुंचाया। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, लेकिन मंगलवार सुबह पोस्टमार्टम होगा.

सूत्रों के अनुसार, छोटी सादड़ी क्षेत्र में अंबावली के पास रामेदव गांव में हनुमान चौक पर गाडोलिया समाज के विवाह बिंदौली (बाना) में बेकाबू ट्रॉला जा घुसा. इसने कई व्यक्तियों को चपेट में ले लिया. सूचना पर एसडीएम प्रकाशचंद्र रेगर अस्पताल पहुंच गए. नीमच, प्रतापगढ़ और चित्तौड़गढ़ से एंबुलेंस बुलाई गई है. घायलों को उदयपुर रेफर किया गया. इनमें दुल्हन भी शामिल है. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, ट्राला निंबाहेड़ा से प्रतापगढ़ की ओर जा रहा था. उसमें कोयला भरा हुआ था. हादसे के बाद ड्राइवर ट्रॉला को मौके पर छोड़कर भाग गया.
प्रतापगढ़ जिले के डीएम रामसिंह राजपुरोहित व एसपी अनिल कुमार रात करीब 10.30 बजे छोटी सादड़ी अस्पताल पहुंचे. उन्होंने स्थानीय अधिकारियों व लोगों से दुर्घटना के संबंध में जानकारी ली. दुर्घटना के बाद राहत कार्यों की स्थिति देखी. रात करीब 11 बजे सांसद सीपी जोशी भी छोटी सादड़ी पहुंचे. दुर्घटना की जानकारी लगने पर छोटी सादड़ी अस्पताल में मदद के लिए पूरा नगर उमड़ आया. भाजपा-कांग्रेस के पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि व समाजसेवी संगठनों के सदस्य मददगार की भूमिका में नजर आए.