News Nation Logo
Banner

13 साल की अनुष्का ने नदी में डूब रहे तीन बच्चों को बचाया, चौथी को बचाने के चक्कर में गई जान

विसर्जन के दौरान छवि, खुशबू, पंकज और गोविंदा चार बच्चे नदी की तेज बहाव में डूबने लगे. तभी बड़ी बच्ची अनुष्का ने नदी में छलांग लगा दी और तीन बच्चों को नदी से बाहर निकाल लिया लेकिन अंत में छोटी बच्ची छवि को जब वह बचाने लगी तो छवि ने अनुष्का को पकड़ लिया

News Nation Bureau | Edited By : Ritika Shree | Updated on: 25 Aug 2021, 07:57:53 PM
13 Years old Anushka

13 साल की अनुष्का (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • विसर्जन के दौरान छवि, खुशबू, पंकज और गोविंदा चार बच्चे नदी की तेज बहाव में डूबने लगे
  • घटना में ख़ास बात यह रही कि सबसे बड़ी बच्ची अनुष्का ने तीन बच्चों को जीवनदान दिया
  • अपनी छोटी चचेरी बहन छवि को बचाने के चक्कर में खुद पानी में समा गई

राजस्थान:

राजस्थान में धौलपुर जिले से एक दुखद घटना सामने आयी है, जहां 23 अगस्त 2021 को पार्वती नदी में फुलरिया विसर्जन करने गए छोटे-छोट पांच बच्चे में से दो बच्चि‍यां गहरे पानी में डूब गईं और उनकी मौत हो गई. घटना मनियां थाना इलाके की ग्राम पंचायत विनती पुरा के गांव खूबी का पुरा की रहने वाली 13 वर्षीय अनुष्का, 7 वर्षीय छवि, 12 वर्षीय खुशबू, 10 वर्षीय पंकज और 10 वर्षीय गोविंदा की है, ये बच्चें रक्षाबंधन त्यौहार के दूसरे दिन होने वाले कार्यक्रम फुलरिया को विसर्जन करने के लिए गांव की अन्य बच्चों के साथ पार्वती नदी पर गए हुए थे. 

यह भी पढ़ेः सुप्रीम कोर्ट ने सांसदों/विधायकों के खिलाफ मुकदमा चलाने में देरी पर चिंता जताई

विसर्जन के दौरान छवि, खुशबू, पंकज और गोविंदा चार बच्चे नदी की तेज बहाव में डूबने लगे. तभी बड़ी बच्ची अनुष्का ने नदी में छलांग लगा दी और तीन बच्चों को नदी से बाहर निकाल लिया लेकिन अंत में छोटी बच्ची छवि को जब वह बचाने लगी तो छवि ने अनुष्का को पकड़ लिया और दोनों की डूबने से मौत हो गई. अनुष्का और छवि दो सगे भाइयों की इकलौती बेटियां थीं. घटना में ख़ास बात यह रही कि सबसे बड़ी बच्ची अनुष्का ने तीन बच्चों को जीवनदान दिया लेकिन अंत में अपनी छोटी चचेरी बहन छवि को बचाने के चक्कर में खुद पानी में समा गई. सरपंच राजेश सिकरवार ने ग्रामीणों की मदद से निजी स्तर पर रेस्क्यू शुरू कर दोनों बच्चियों के शव को नदी से बाहर निकाला. उसके बाद घटना की सूचना मनियां थाना पुलिस को दी गई. पुलिस ने दोनों बच्च‍ियों के शव लेकर मनियां के सरकारी अस्पताल की मॉर्चुरी में रखवा दिए और रात को ही परिजनों की मौजूदगी में पोस्टमॉर्टम करा कर दोनों का शव सुपुर्द कर दिए गए.

यह भी पढ़ेः अफगानिस्तान में जो कुछ भी हो रहा था, वह प्रत्याशित था : जनरल रावत

इस घटना से गांव में सन्नाटा पसर गया है. बच्च‍ियों के घर में रो-रो कर परिजनों का बुरा हाल बना हुआ है. बता दें कि रक्षाबंधन के बाद जिले में फुलरिया का स्थानीय त्योहार मनाया जाता है जिसमें सावन माह में बच्चियां अपने-अपने घर पर गेहूं से फुलरिया उपजाती हैं और रक्षा बंधन के दूसरे दिन उनका नदी तालाब पोखर में विसर्जन कर अपने भाई और बुजुर्गो को उपजी हुई फुलरियों को देती हैं.

First Published : 25 Aug 2021, 07:57:53 PM

For all the Latest States News, Rajasthan News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live Scores & Results

वीडियो

×