News Nation Logo

पंजाब में बेकाबू हुए डेंगू के मामले, चन्नी सरकार बेखबर : प्रो. बलजिंदर कौर

कोरोना के बाद अब डेंगू के मामलों ने पंजाब की सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं का दोबारा पर्दाफाश कर दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 16 Oct 2021, 07:38:48 PM
Pro Baljinder kaur

प्रो. बलजिंदर कौर, आप विधायक (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • सरकारी अस्पतालों की बदहाली के कारण प्राइवेट अस्पतालों में लूटे जा रहे हैं लोग  
  • दिल्ली में केजरीवाल सरकार के स्वास्थ्य मॉडल से सीख ले चन्नी सरकार
  • प्राइवेट अस्पतालों में बेड चार्ज और एसडीपी किट की कीमत सरकार निर्धारित करे 

 

चंडीगढ़:

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब की वरिष्ठ नेता एवं विधायिका प्रो. बलजिंदर कौर ने पंजाब में बेकाबू हो रहे डेंगू के मामलों के लिए कांग्रेस सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि सरकारी डिस्पेंसरियों और अस्पतालों की बद्हाली के कारण मरीजों को प्राइवेट अस्पतालों में लूटे जाने के लिए लावारिस छोड़ दिया गया है. प्रो. बलजिंदर कौर ने शनिवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि पंजाब की चन्नी सरकार दिल्ली की केजरीवाल सरकार से सीख ले. उन्होंने कहा कि कोरोना के बाद अब डेंगू के मामलों ने पंजाब की सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं का दोबारा पर्दाफाश कर दिया है.

पंजाब में डेंगू के दिनों-दिन बढ़ते जा रहे मामलों के साथ ही निजी अस्पतालों पर आधारित सेहत माफिया भी बेलगाम हो गया है. प्राइवेट अस्पताल बेड और लैब टेस्ट के मुंह मांगे पैसे वसूल रहे हैं. ब्लड प्लेटलेट्स (खून के सैल) की कमी पूरी करने के लिए सिंगल डोनल प्लेटलेट्स (एसडीपी) के एक पैकेट के 10 हजार से 15 हजार रूपये तक वसूले जा रहे हैं, जबकि चन्नी सरकार सोई पड़ी है.

प्रो. बलजिंदर कौर ने कहा कि डेंगू हर साल आने वाली मुसीबत है. लेकिन पंजाब सरकार इसकी रोकथाम के लिए कभी भी पहले से (एडवांस) प्रबंध नहीं करती. जबकि यह प्रबंध जुलाई महीने तक पूरे होने चाहिएं ,क्योंकि सितंबर, अक्तूबर और नवंबर में डेंगू का प्रकोप चरम पर पहुंच जाता है. डेंगू के ईलाज के लिए जरूरी खून के सैल (एसडीपी) को अधिक से अधिक पांच दिन तक सुरक्षित रखा जा सकता है. इस कारण सरकार को डोनर लिस्ट (रक्तदाताओं) की सूची पहले ही तैयार करनी चाहिए. इसके अलावा प्लेटलेट्स और खून की कमी को दूर करने के लिए सरकार रजिस्टर्ड गैर सरकारी संस्थाओं से तालमेल करे. हेल्पलाइन नंबर जारी किए जाएं, ताकि प्लेटलेट्स और खूनदान करने वाले दानियों को अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों से सीधे संपर्क किया जा सके.

उन्होंने मांग की है कि सरकार प्राइवेट अस्पतालों में हो रही लूट को तुरंत रोके. प्राइवेट अस्पतालों में बेड चार्ज और एसडीपी किट की कीमत निर्धारित करे. किसी एक टेस्ट के लिए प्राइवेट अस्पताल अधिक से अधिक कितने रूपये वसूल कर सकते हैं, इसका फैसला करे. साथ ही आम लोगों को बीमारी के संबंध में जानकारी देने और उससे बचाव के लिए आवश्यक जानकारी देने के लिए विज्ञापन देने समेत अन्य माध्यमों से प्रचार का प्रबंध भी करे.

प्रो. बलजिंदर कौर ने कहा कि आम आदमी पार्टी की दिल्ली की सरकार ने ईमानदारी के साथ काम करते हुए डेंगू की घातक बीमारी पर काबू पा लिया है, क्योंकि वहां मोहल्ला क्लिीनिक, अच्छे अस्पताल, मुफ्त ईलाज और विश्व स्तरीय अस्पताल बनाए गए हैं. उन्होंने बताया कि पार्टी प्रमुख एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब में `आप' की सरकार बनने के बाद दूसरी गारंटी सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं की कायाकल्प करने की दी है.

दूसरी गारंटी के अनुसार पंजाब में `आप' की सरकार बनने के बाद जहां ग्रामीण और शहरी वार्डों में दिल्ली की तर्ज पर करीब 16000 गांव क्लीनिक और मोहल्ला क्लीनिक खोलकर मुफ्त टेस्ट, मुफ्त ईलाज, और मुफ्त दवाइयां दी जाएंगी, वहीं महंगे प्राइवेट अस्पतालों को मात देने वाले विश्व स्तरीय सरकारी अस्पताल बनाए जाएंगे, जहां हर प्रकार का ईलाज, टेस्ट, ऑपरेशन और दवाइयां मुफ्त दी जाएंगी और बड़े स्तर पर डॉक्टरों, नर्सों और अन्य मेडिकल स्टाफ की भर्ती की जाएगी.

First Published : 16 Oct 2021, 07:38:48 PM

For all the Latest States News, Punjab News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.