News Nation Logo
Banner

Shocking News: मां-बाप के सामने ही कुत्‍तों ने मासूम बच्‍चियों को नोंच डाला, एक की मौत

8 माह की एक बच्‍ची को कुत्‍तों ने नोंच कर मार डाला, जबकि उसकी दो साल की बहन गंभीर रूप से घायल है और उसका इलाज अस्‍पताल में चल रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 23 Jun 2019, 01:18:49 PM
प्रतिकात्‍मक चित्र

प्रतिकात्‍मक चित्र (Photo Credit: File Photo)

नई दिल्‍ली:

पंजाब के फरीदकोट में 8 माह की एक बच्‍ची को कुत्‍तों ने नोंच कर मार डाला, जबकि उसकी दो साल की बहन गंभीर रूप से घायल है और उसका इलाज अस्‍पताल में चल रहा है. घटना फरीदकोट के गांव वीर भोलुवाला की है. दूसरी बच्‍ची के चेहरे और पूरे शरीर को कुत्‍तों ने नोंच लिया है. बुरी तरह जख्‍मी कोमल को सिविल हास्‍पिटल से गुरु गोविंद सिंह मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है. .

बच्‍चियों के मां-बाप मजदूर हैं. शनिवार को यह दर्दनाक घटना उनके पास ही घटी. घटना के समय दोनों पति-पत्‍नी खेत में धान की रोपाई कर रहे थे. इस दौरान बच्‍चे पास ही खेल रहे थे. बच्‍ची के पिता शंभू ने बताया कि खेत के पास राधा और सीता एक पेड़ के नीचे खेल रहीं थी. तभी आवारा कुत्‍तों का झुंड उनपर हमला कर दिया. बच्‍चियों की चीख सुनकर वह उधर दौड़ा. इतने में ग्राम पंचायत सदस्‍य रौनकी सिंह भी वहां पहुंच गए और किसी तरह बचाया.

यह भी पढ़ेंः झूम के छा रहे हैं रविवार से बदरा, दिल्ली तैयार हो जाओ बुधवार तक भीगने के लिए

रौनकी सिंह और शंभू बच्‍चियों को लेकर फरीदकोट सिविल अस्‍पताल पहुंचे तब तक 8 महीने की राधा दमतोड़ चुकी थी. वहीं कोमल के चेहरे और पूरे शरीर को कुत्‍तों ने नोंच लिया है. बुरी तरह जख्‍मी कोमल को सिविल हास्‍पिटल से गुरु गोविंद सिंह मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है. 

घर के आंगन में सो रही डेढ़ महीने की बच्ची को बंदरों ने नोंच-नोंचकर मार डाला

वहीं उत्तर प्रदेश के संभल जिले से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां बंदरों के झुंड ने डेढ़ महीने की बच्ची को नोंच-नोंचकर मार डाला. बच्ची घर के आंगन में सो रही थी, तभी बंदरों के झुंड ने हमला कर नोंच डाला. यह घटना संभल के गुन्नौर थाना क्षेत्र के जुनावई की है.

यह भी पढ़ें- इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे छात्र को इस गंदी हरकत ने पहुंचा दिया मौत तक

बताया जा रहा है कि जुनावई कस्बे के रहने वाले राजेश कुमार की डेढ़ महीने की बेटी रोशनी शुक्रवार देर शाम घर के आंगन में चारपाई पर सो रही थी. बच्ची की मां सुनीता देवी खुद पानी भरने के लिए हैंडपंप पर चली गईं. आंगन में सो रही मासूम के मुंह पर दूध की बोतल लगी हुई थी. बंदरों ने मासूम पर हमला कर उसे बुरी तरह से जख्मी कर दिया.

यह भी पढ़ें- चुनाव में मोदी लहर नहीं, सुनामी चल रही थी जिसमें सभी बह गए, सलमान खुर्शीद ने दिया यह बड़ा बयान

मासूम के रोने की आवाज सुनकर परिजन दौड़े तो वहां से बंदर भाग गए. बेहोशी की हालत में बच्ची को लेकर डॉक्टर के पास लेकर भागे, लेकिन रास्ते में ही मासूम बच्ची ने दम तोड़ दिया. इस घटना से परिवार में कोहराम मच गया है. 

First Published : 23 Jun 2019, 01:18:13 PM

For all the Latest States News, Punjab News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×