News Nation Logo

कैप्टन अमरिंदर सिंह का बड़ा फैसला- पंजाब में एक मई तक बढ़ाया Lockdown

कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते खतरे को देखते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने शुक्रवार को बड़ा फैसला लिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 10 Apr 2020, 06:00:12 PM
amarinder singh

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते खतरे को देखते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने शुक्रवार को बड़ा फैसला लिया है. पंजाब कैबिनेट ने राज्य में एक मई तक के लिए लॉकडाउन (Lockdown) या कर्फ्यू बढ़ाने की मंजूरी दे दी है. ओडिशा के बाद पंजाब दूसरा राज्य है, जिसने अपने राज्य में लॉकडाउन बढ़ा दिया है.

कोरोना के खिलाफ 15 हजार करोड़ रुपये का पैकेज नाकाफी: अमरिंदर

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ केंद्र की ओर से राज्यों के लिए तय 15 हजार करोड़ रुपये का पैकेज नाकाफी है और ऐसे में मोदी सरकार को प्रदेश सरकारों को पर्याप्त वित्तीय मदद देनी चाहिए. उन्होंने यह भी बताया कि 15 अप्रैल से किसानों को फसलों की कटाई के लिए लॉकडाउन में ढील दी जाएगी और इसमें सामाजिक दूरी का ध्यान रखा जाएगा.

यह भी पढ़ेंःPM मोदी ने जापान और नेपाल के प्रधानमंत्री से की बात, कोरोना से निपटारे पर बनी ये सहमति

सीएम सिंह ने वीडियो लिंक के माध्यम से संवाददाताओं से कहा कि हमने पहले लॉकडाउन किया और बाद में कर्फ्यू लगाया. फिर लोगों तक जरूरी वस्तुओं को पहुंचाने की व्यवस्था की. हमारे लोग हर मोहल्ले में पहुंचकर जरूरी वस्तुएं मुहैया करा रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के मामले शुरू होने के बाद बड़ी संख्या में लोग विदेश से लोग पंजाब में आए. हमने स्क्रीनिंग की और लोगों को पृथक रखा. अब ज्यादातर लोग पृथक वास से बाहर आ चुके हैं.

उन्होंने कहा कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में हैं. हमने 132 मामलों की पुष्टि है. 11 लोगों की मौत हुई है. कुल 2877 लोगों की जांच हुई. मुख्यमंत्री ने कहा कि हम चार चरणों में तैयारी कर रहे हैं. पहले चरण में 200 हजार बेड और उपकरण, दूसरे चरण में 10 हजार बेड एवं उपकरण, तीसरे चरण में 30 हजार बेड एवं उपकरण, चौथे चरण में एक लाख बेड एवं उपकरण की व्यवस्था होगी.

यह भी पढ़ेंःमोदी सरकार का दावा- देश में Hydroxychloroquine का पर्याप्त भंडार, अब कोरोना नहीं आएगा पास

उन्होंने कुछ विशेषज्ञों का हवाला देते हुए कहा कि स्थिति भयावह हो सकती है और इसको लेकर तैयारी करनी होगी। केंद्र सरकार की ओर दिए जा रहे पॉकेज के बारे में पूछे जाने पर अमरिंदर ने कहा कि 15 हजार करोड़ रुपये पर्याप्त नहीं है. 1.30 अरब की आबादी में यह कुछ नहीं है. उन्होंने कहा कि राज्यों की स्थिति ऐसी स्थिति नहीं है वो अकेले लड़ सकें. केंद्र को उनकी पूरी मदद करनी चाहिए.

ओडिशा में 30 अप्रैल तक बढ़ा लॉकडाउन

ओडिशा सरकार ने कोरोना वायरस (Corona Virus) को फैलने से रोकने के लिए राज्य में लॉकडाउन (बंद) 30 अप्रैल तक बढ़ाने का बृहस्पतिवार को फैसला किया. लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने वाला वह पहला राज्य है. कोविड-19 के संकट को देखते हुए कई राज्यों ने केंद्र से बंद की अवधि बढ़ाने का आग्रह किया है. मंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा के बाद मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (CM Naveen Patnaik) ने यह घोषणा की. उन्होंने कहा कि स्कूल और अन्य शिक्षण संस्थान 17 जून तक बंद रहेंगे.

पांच वरिष्ठ मंत्रियों के साथ चर्चा के बाद मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने एक वीडियो संदेश में कहा कि हमने बंद को 30 अप्रैल तक बढ़ाने का फैसला किया है. केंद्र को भी देशव्यापी लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ाने की सलाह देंगे. पटनायक ने कहा कि राज्य सरकार ने केंद्र से 30 अप्रैल तक रेल और उड़ान सेवा रोकने का आग्रह किया है. ओडिशा में अब तक कोरोना वायरस के 44 मामले सामने आए हैं. इस संक्रमण से राज्य में एक व्यक्ति की मौत हुई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संक्रमण की रोकथाम के लिए 24 मार्च को 21 दिन के बंद का ऐलान किया था जो 14 अप्रैल तक चलना है. बंद के दौरान सहयोग करने के लिए जनता का शुक्रिया अदा करते हुए पटनायक ने कहा, मैं जानता हूं कि बहुत मुश्किलें हैं, समझौते करने पड़ रहे हैं और अनिश्चितता है लेकिन हालात का सामना करने का यही एक तरीका है.

For all the Latest States News, Punjab News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 10 Apr 2020, 05:08:54 PM