News Nation Logo
Banner

अप्रैल के बाद किसी किसान को नहीं करने देंगे आत्महत्या : केजरीवाल

पंजाब में विधानसभा चुनाव को लेकर बिसातें बिछ चुकी हैं. गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पंजाब पहुंचे और विपक्षी दलों को जमकर घेरने की कोशिश की.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 28 Oct 2021, 05:58:13 PM
kejrival

file photo (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • आजादी के 70 साल बाद भी किसानों को करनी पड़ रही खुदकुशी
  • पंजाब में प्रेस-कॅान्फ्रेंस कर रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल
  • बिना नाम लिए कांग्रेस, अकाली दल व बीजेपी पर साधा निशाना 

 

नई दिल्ली :  

पंजाब में विधानसभा चुनाव को लेकर बिसातें बिछ चुकी हैं. गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पंजाब पहुंचे और विपक्षी दलों को जमकर घेरने की कोशिश की. उन्होने प्रेस कॅान्फ्रेंस की शुरुवात में कहा कि सबसे पहले उन महिलाओं को श्रधांजलि अर्पित करना चाहता हूं, जिनकी मौत ट्रक से कुचलकर हो गई है. इसके बाद उन्होने मौजूदा व पहले की सरकारों को किसान मुद्दे पर जमकर घेरा. पूरे देश मे कहीं से खबर आती है की किसान ने आत्महत्या कर ली तो बहुत तकलीफ होती है. अप्रैल में हमारी सरकार बनने के बाद किसी किसान को आत्महत्या के लिए मजबूर नहीं होना पड़ेगा. 

यह भी पढें :आज जेल से बाहर नहीं आ पाएंगे आर्यन खान, जानें वजह

30 अप्रैल को अकाउंट में आज जाएंगे पैसे 
उन्होने कहा कि अभी मैंने पढ़ा ,पंजाब की खेती के बारे में बहुत बड़ी प्लानिंग है. 1 महीने बाद वो प्लानिंग आपके सामने रखूंगा. आज इसलिए आया हूं. क्योंकि अखबारों में पढ़ा, पंजाब में लोगो की फसल बर्बाद हो गई बेमौसम बरसात से लेकिन सरकार ने कुछ नहीं किया. उन्होने कहा मुख्यमंत्री चन्नी को किसानों की सुध लेना चाहिए. आप सबसे अपील करना चाहता हूं ,आपको चन्नी साहब  ने अगर मुआवजा नही दिया तो आप आत्महत्या नही करना ,30 अप्रैल को  आपके एकाउंट में पैसे आ जाएंगे ,तारीख नोट कर लो
.

वहीं केजरीवाल ने कांग्रेस के साथ अकाली दल को भी जमकर कोसा. उन्होने कहा अकाली दल सिर्फ मीडिया में सुर्खियां बटोरने के लिए ही किसानों के साथ है. बीजेपी को अंदरखाने बीजेपी को ही मजबूत करने का काम करता है. लेकिन अब पंजाब में जनता समझ चुकी है. आने वाले चुनाव में इन्हे वोट की ताकत दिखा दो. ताकि दिल्ली की तर्ज पर पंजाब में भी विकास की गंगा बहाई जा सके.पराली जलाने का सबसे ज्यादा असर किसानों पर ही होता है उसके परिवार पर होता है. दिल्ली सरकार पराली गलाने के के लिए घोल का निर्माण करती है.  उसका छिड़काव पंजाब में सरकार बनने के बाद फ्री में करेगी.

First Published : 28 Oct 2021, 05:44:16 PM

For all the Latest States News, Punjab News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.