News Nation Logo
Breaking
Banner

कोटकपूरा गोलीकांड: एसआईटी ने पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को 16 जून को किया तलब

कोटकपूरा गोलीकांड मामले में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को तलब किया गया है. कोटकपूरा गोलीकांड की जांच कर रही नई विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को सामने पेश होने को कहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Avinash Prabhakar | Updated on: 13 Jun 2021, 04:47:36 PM
pp

पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल (Photo Credit: File)

चंडीगढ़ :  

कोटकपूरा गोलीकांड मामले में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को तलब किया गया है. कोटकपूरा गोलीकांड की जांच कर रही नई विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को सामने पेश होने को कहा है. प्रकाश सिंह बादल को 16 जून को सुबह 10:30 बजे मोहाली के फेज-आठ स्थित पावर हाउस रेस्ट हाउस में पेश होना है. इससे पहले सेवामुक्त आईजी कुंवर विजय प्रताप सिंह की अध्यक्षता वाली एसआईटी ने पिछले साल 16 नवंबर को भी प्रकाश सिंह बादल को गोलीकांड मामले में पूछताछ के लिए बुलाया था.

बताते चलें कि पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने कोटकपूरा गोलीकांड मामले में पुरानी एसआईटी की जांच रिपोर्ट को खारिज कर दिया था और इस मामले में नई एसआईटी गठन का आदेश दिया था. तीन सदस्यीय गठित नई एसआईटी टीम को छह माह के भीतर अपनी जांच रिपोर्ट सौंपनी है. कोटकपूरा गोलीकांड मामले एसआईटी अब पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी समेत तीन पुलिस अफसरों का नार्को टेस्ट कराने की तैयारी में है. एसआईटी ने शुक्रवार को फरीदकोट की अदालत में आवेदन दाखिल कर पंजाब के पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी, निलंबित आईजी परमराज सिंह उमरानंगल व पूर्व एसएसपी चरनजीत सिंह शर्मा का नार्को, लाई डिटेक्टर व ब्रैन मैपिंग टेस्ट करवाने की इजाजत मांगी है.

जानकारी के अनुसार एडीजीपी विजिलेंस एलके यादव की अगुवाई वाली एसआईटी ने पांच दिन पहले बीते सोमवार को पूर्व डीजीपी सैनी समेत तीनों पुलिस अधिकारियों से चंडीगढ़ में पूछताछ की थी. एसआईटी का आरोप है कि ये पुलिस अफसर जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं और सच छिपा रहे हैं. इस कारण इनका नार्को टेस्ट करवाए जाने की जरूरत है.

First Published : 13 Jun 2021, 04:26:02 PM

For all the Latest States News, Punjab News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.