News Nation Logo
उत्तराखंड : बारिश के दौरान चारधाम यात्रा बड़ी चुनौती बनी, संवेदनशील क्षेत्रों में SDRF तैनात आंधी-बारिश को लेकर मौसम विभाग ने दिल्ली-NCR के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया राजस्थान : 11 जिलों में आज आंधी-बारिश का ऑरेंज अलर्ट, ओला गिरने की भी आशंका बिहार : पूर्णिया में त्रिपुरा से जम्मू जा रहा पाइप लदा ट्रक पलटने से 8 मजदूरों की मौत, 8 घायल पर्यटन बढ़ाने के लिए यूपी सरकार की नई पहल, आगरा मथुरा के बीच हेली टैक्सी सेवा जल्द महाराष्ट्र के पंढरपुर-मोहोल रोड पर भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत- 3 की हालत गंभीर बारिश के कारण रोकी गई केदारनाथ धाम की यात्रा, जिला प्रशासन के सख्त निर्देश आंधी-बारिश के कारण दिल्ली एयरपोर्ट से 19 फ्लाइट्स डाइवर्ट
Banner

Corona Virus: चंडीगढ़ में घर में अलग रह रहे लोगों का पता लगाएगा यह मोबाइल ऐप

एक अधिकारी ने बताया कि ऐप- सीवीडी ट्रैकर उन लोगों की पहचान करेगा जिन्हें घर में पृथक रहने को कहा गया है. साथ ही उन लोगों के आस-पास के विशिष्ट क्षेत्रों की निर्धारित सीमाओं को चिह्नित (जियो फेंस) करेगा.

Bhasha | Edited By : Aditi Sharma | Updated on: 12 Apr 2020, 11:31:34 AM
corona app

corona app (Photo Credit: प्रतिकात्मक तस्वीर)

चंडीगढ़:  

चंडीगढ़ प्रशासन की ओर से शुरू किया गया मोबाइल ऐप्लिकेशन केंद्र शासित प्रदेश में घर में पृथक रह रहे लोगों का पता लगाएगा और यह सुनिश्चित करेगा कि कोविड-19 के संबंध में जारी दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा हो. एक अधिकारी ने बताया कि ऐप- सीवीडी ट्रैकर उन लोगों की पहचान करेगा जिन्हें घर में पृथक रहने को कहा गया है. साथ ही उन लोगों के आस-पास के विशिष्ट क्षेत्रों की निर्धारित सीमाओं को चिह्नित (जियो फेंस) करेगा.

पृथक वास में रखे गए लोगों के लिए अपने मोबाइल फोन पर यह ऐप डाउनलोड करना अनिवार्य होगा. अधिकारी ने कहा, 'पृथक रखे गए प्रत्येक ऐप उपयोगकर्ता को पृथक रखे जाने वाली जगह के 50 मीटर के दायरे में घेर दिया जाएगा और ऐसे उपयोगकर्ताओं को हर घंटे एक सेल्फी अपलोड करनी होगी. प्रणाली के जरिए फिर उनको पृथक रखी गई जगह और जिस स्थान से उन्होंने सेल्फी अपलोड की है उसका मिलान किया जाएगा.'

यह भी पढ़ें: Corona Virus: अमेरिका-जर्मनी से ज्यादा है भारत में मृ्त्यु दर, जानिए कैसे

अधिकारी ने बताया कि अगर पृथक रखा गया कोई उपयोगकर्ता जियोफेंस यानि सीमित दायरे से बाहर जाता है तो प्रशासन को नियंत्रण कक्ष में एक अलर्ट प्राप्त होगा और उपयोगकर्ता को चेतावनी संदेश भेजा जाएगा। साथ ही कहा कि उल्लंघन करने वाले पर प्राथमिकी दर्ज करने जैसी सख्त कार्रवाई की जाएगी. प्रशासन के नियंत्रण कक्ष को फोन बंद किए जाने पर भी अलर्ट प्राप्त होगा और उपयोगकर्ता के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी. पृथक वास में रखे गए लोगों की निगरानी के लिए हर समय काम करने वाला नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसमें एक टीम काम करेगी.

यह भी पढ़ें: Corona Lockdown में रुकने को कहा तो 'निहंगों' ने पुलिसकर्मी के हाथ काटे, दो अन्य को किया जख्मी

सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के उपमंडलीय मजिस्ट्रेट नाजुक कुमार ने कहा, 'भविष्य में पृथक रखे जाने वाले लोगों की संख्या बढ़ सकती है और यह ऐप जीपीएस लोकेशन की मदद से पृथक लोगों का पता लगाना स्वास्थ्य एवं पुलिस विभागों के लिए आसान बनाएगा.' उन्होंने कहा, 'किसी भी तरह की चूक या अनाधिकृत गतिविधि संबंधित एसडीएम, पुलिस के साथ- साथ संबंधित व्यक्ति को भी तत्काल अलर्ट कर देगी। उल्लंघनकर्ता के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।” भाषा नेहा नरेश नरेश

First Published : 12 Apr 2020, 11:28:13 AM

For all the Latest States News, Punjab News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.