News Nation Logo

संविधान के मूल ढांचे का सिद्धांत दिलाने वाले केशवानंद भारती का निधन

संविधान के मूल ढांचे का सिद्धांत दिलाने वाले संत केशवानंद भारती का रविवार को यहां निधन हो गया.

Bhasha | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 06 Sep 2020, 02:35:38 PM
Keshavanand Bharti

संविधान के मूल ढांचे का सिद्धांत दिलाने वाले केशवानंद भारती का निधन (Photo Credit: फाइल फोटो)

कासरगोड:

संविधान के मूल ढांचे का सिद्धांत दिलाने वाले संत केशवानंद भारती का रविवार को यहां निधन हो गया. पुलिस ने बताया कि केरल निवासी संत केशवानंद भारती श्रीपदगवरु का इदानीर मठ में उम्र संबंधी बीमारियों की वजह से 79 साल की उम्र में निधन हो गया. पुलिस ने कहा कि हमें मिली सूचना के मुताबिक रविवार तड़के करीब तीन बजकर 30 मिनट पर उनका निधन हुआ.

यह भी पढ़ें: चीन की बढ़ रही बौखलाहट, भारत के तिब्बत कार्ड से परेशान

उल्लेखनीय है कि चार दशक पहले भारती ने केरल भूमि सुधार कानून को चुनौती दी थी, जिस पर सुनवाई करते हुए उच्चतम न्यायालय ने संविधान के मूल ढांचे का सिद्धांत दिया और यह फैसला शीर्ष अदालत की अब तक सबसे बड़ी पीठ ने दिया था जिसमें 13 न्यायधीश शामिल थे. केशवानंद भारती बनाम केरल राज्य मामले पर 68 दिन तक सुनवाई हुई थी और अब तक उच्चतम न्यायालय में सबसे अधिक समय तक किसी मुकदमे पर चली सुनवाई के मामले में यह शीर्ष पर है.

यह भी पढ़ें: भारत में कोरोना का नया रिकॉर्ड, एक दिन में 90 हजार से अधिक मरीज मिले

इस मामले की सुनवाई 31 अक्टूबर 1972 को शुरू हुई और 23 मार्च 1973 को सुनवाई पूरी हुई. भारतीय संवैधानिक कानून में इस मामले की सबसे अधिक चर्चा होती है. मद्रास उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश के चंद्रू से इस मामले के महत्व के बारे में जब पूछा गया तो उन्होंने 'पीटीआई-भाषा' से कहा, 'केशवानंद भारती मामले का महत्व इसपर आए फैसले की वजह से है जिसके मुताबिक संविधान में संशोधन किया जा सकता है लेकिन इसके मूल ढांचे में नहीं.'

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 06 Sep 2020, 02:27:45 PM

For all the Latest States News, Other State News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो