News Nation Logo
Banner

महाराष्ट्र: MNS अध्यक्ष राज ठाकरे बोले- न तो मेरी नीति और न ही मेरा झंडा बदला, क्योंकि...

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के प्रमुख राज ठाकरे ने शुक्रवार को कहा कि न तो बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों के प्रति उनकी नीति बदली है और न ही उनकी पार्टी का झंडा बदला है.

Bhasha | Updated on: 14 Feb 2020, 06:21:41 PM
(MNS के प्रमुख राज ठाकरे

(MNS के प्रमुख राज ठाकरे (Photo Credit: फाइल फोटो)

औरंगाबाद:

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के प्रमुख राज ठाकरे ने शुक्रवार को कहा कि न तो बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों के प्रति उनकी नीति बदली है और न ही उनकी पार्टी का झंडा बदला है. मनसे इस साल जनवरी में अपना नया झंडा सामने लेकर आई थी, जिसमें छत्रपति शिवाजी महाराज का राजकीय मुहर है जिसे ‘राज मुद्रा’ कहा जाता है. उस समय कार्यकर्ताओं के एक सम्मेलन में उनके भाषण से मनसे के कट्टर हिंदुत्व राजनीति की ओर उन्मुख होने का संकेत भी मिला था.

यह भी पढे़ंःपीएम नरेंद्र मोदी 16 फरवरी को जाएंगे वाराणसी, महाकाल एक्सप्रेस को दिखाएंगे हरी झंडी

मनसे के अध्यक्ष राज ठाकरे ने औरंगाबाद में संवाददाताओं से कहा कि न तो बांग्लादेशियों और पाकिस्तानियों के प्रति मेरी नीति बदली है और न ही मेरा झंडा बदला है. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने नए झंडे के लिए राज्य चुनाव आयोग को पत्र भेजा था और यह तीन-चार पहले दर्ज कराए गए कई झंडों में एक है. उन्होंने कहा कि राज मुद्रा वाला झंडा पहले भी पार्टी के कार्यक्रमों में प्रदर्शित किया गया है.

राज ठाकरे ने दावा किया कि राज्य सरकार ने बांग्लादेशियों द्वारा चलाए जा रहे रिक्शों और टैक्सियों को हटवाया जब उनकी पार्टी ने यह मुद्दा उठाया. शिवसेना पर प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि अन्य अपनी नीतियां बदलकर सत्ता में पहुंचे हैं. जब उनसे राष्ट्रीय जांच एजेंसी द्वारा एलगार परिषद प्रकरण की जा रही जांच और इसे लेकर राज्य सरकार एवं केंद्र सरकार के बीच टकराव के बारे में पूछे जाने पर ठाकरे ने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि कौन सी एजेंसी जांच करती है, बस जांच परिणति तक पहुंचनी चाहिए. हम देखते हैं कि कई जांचें शुरू होती हैं लेकिन वे कभी खत्म नहीं होती हैं.

बता दें कि पिछले दिनों राज ठाकरे ने एक जनसभा में कहा था कि जो आज आपने ताकत दिखाई, उसका मैं ऋणी हूं. मैंने कहा था मोर्चा का जवाब मोर्चा से देंगे. जो मोर्चे देश भर में निकाले गए, खास करके मुसलमानों ने, उसका अर्थ मैं नहीं समझ पाया. जो यहां पैदा हुए, जो रह रहे हैं उनको किसने निकाला? फिर ये मोर्चे क्यों?

यह भी पढे़ंःसुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-NCR में प्रदूषण को लेकर निर्माण कार्यों पर लगी पाबंदी हटाई

उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश में जिनपर वहां अत्याचार होगा, उन्हें यहां जगह दी जाएगी. ये कायदा 1955 का है. तब की परिस्थिति अलग थी, अबकी अलग है. पाकिस्तान की परिस्थिति आज क्या हैं सब को पता हैं. केंद्र सरकार की कुछ भूमिका का विरोध किया, तो ये भाजपा के विरोध में और भाजपा की तारीफ की, तो भाजपा के समर्थन में, बीच में भी तो कुछ है. 370 और राम मंदिर का मैंने समर्थन किया. राज ठाकरे ने कहा था कि पाकिस्तान आतंकवादियों का अड्डा बना है.

First Published : 14 Feb 2020, 06:17:31 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो