News Nation Logo
Banner

शरद पवार के घर पहुंचे पार्थ, सुशांत केस में CBI जांच को लेकर चल रही बैठक

महाराष्ट्र में सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh case) में सीबीआई जांच की मांग के बाद पहली बार पाते पार्थ पवार (Parth Pawar) अपने दादा शरद पवार (Sharad Pawar) घर सिल्वर ओक पहुंचे.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 13 Aug 2020, 10:23:42 PM
sharad pawar

एनसीपी नेता शरद पवार (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

महाराष्ट्र में सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh case) में सीबीआई जांच की मांग के बाद पहली बार पाते पार्थ पवार (Parth Pawar) अपने दादा शरद पवार (Sharad Pawar) घर सिल्वर ओक पहुंचे. इस दौरान पार्थ पवार, सुप्रिया सुले और शरद पवार की बैठक चल रही है. बताया जा रहा है कि सुशांत केस में सीबीआई जांच की मांग पर शरद पवार पार्थ से नराज हो गए. पार्थ पवार को लेकर उन्होंने बयान भी जारी किया था. 

यह भी पढ़ेंःपूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी पर हो रहा है इलाज का असर: बेटा अभिजीत मुखर्जी

शरद पवार बोले- पार्थ ने जो कहा, हम उसे तनिक भी महत्व नहीं देते हैं

सिने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput Case) की मौत के मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो से जांच कराने की पार्थ पवार की हालिया मांग पर उनके दादा एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) ने कहा है कि वह इस मांग को तनिक भी महत्व नहीं देते हैं. इसके साथ ही पवार ने अपने भतीजे के बेटे के बारे में कहा कि वह अभी अपरिपक्व हैं. शरद पवार ने यह भी कहा कि मुंबई पुलिस में उनका भरोसा है. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर कोई अब भी चाहता है कि मामले की जांच केंद्रीय एजेंसी से कराई जाए तो वह इसका विरोध नहीं करेंगे. राजपूत 14 जून को उपनगरीय इलाके बांद्रा स्थित अपने घर में फंदे से लटके मिले थे.

शिवसेना सांसद संजय राउत से मुलाकात के बाद राकांपा प्रमुख ने संवाददाताओं से कहा कि हमारे पोते (भतीजे के बेटे) ने जो कुछ भी कहा है हम उसे तनिक भी महत्व नहीं देते हैं. वह अभी अपरिपक्व हैं... मैंने स्पष्ट रूप से कहा है कि हमें महाराष्ट्र पुलिस पर 100 फीसदी भरोसा है, लेकिन अगर कोई अब भी चाहता है कि मामले की जांच सीबीआई से हो तो इसका विरोध करने का कोई कारण नहीं है. उनसे यह पूछा गया था कि उनके पोते पार्थ पवार समेत कुछ लोग मामले की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो से कराना चाहते हैं.

पवार ने कहा कि इस मामले में महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ जो आरोप लगाए गए हैं उसका वह जवाब नहीं देना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति आत्महत्या करता है तो हमें दुख होता है, लेकिन मुझे इस बात से आश्चर्य होता है ​जैसे (मीडिया में) इस पर चर्चा हो रही है. राकांपा प्रमुख ने कहा कि हाल ही में वह सतारा में थे, राजपूत की मौत पर मीडिया में जिस प्रकार चर्चा हो रही है उस पर वहां के एक किसान ने आश्चर्य प्रकट किया.

यह भी पढ़ेंः CBI का सुप्रीम कोर्ट में जवाब- सुशांत केस को मुंबई ट्रांसफर करने का सवाल ही नहीं

पवार ने कहा कि किसान ने कहा कि उन्हें इस बात पर आश्चर्य हो होता है जिस तरह से इस (राजपूत की मौत) पर चर्चा होती है. उन्होंने (किसान) कहा कि सतारा में 20 किसानों ने आत्महत्या कर लिया जिसका मीडिया ने संज्ञान तक नहीं लिया, इसलिए हमें पता है कि आम लोगों की भावनाएं क्या हैं. महाराष्ट्र की मावल सीट से लोकसभा चुनाव हार जाने वाले पार्थ पवार प्रदेश के उप मुख्यमंत्री एवं पवार के भतीजे अजित पवार के बेटे हैं.

पार्थ पवार ने 27 जुलाई को प्रदेश के गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात कर राजपूत की मौत के मामले की जांच सीबीआई से अथवा एक विशेष जांच दल से कराने की मांग की थी. शिवसेना के राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने रविवार को दावा किया कि राजपूत की मौत के मामले में दबाव का खेल खेला जा रहा है और महाराष्ट्र के खिलाफ साजिश के तहत इस मामले का राजनीतिकरण किया जा रहा है.

First Published : 13 Aug 2020, 10:11:04 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो