News Nation Logo
Banner

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर सस्पेंस जारी, दिल्ली में कल होगी NCP-कांग्रेस की बैठक

बैठक में एनसीपी नेता शरद पवार, प्रफुल्ल पटेल, अजित पवार और कांग्रेस की ओर से अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे, पृथ्वीराज चव्हाण, अशोक चव्हाण और कई नेता शामिल होंगे

By : Sushil Kumar | Updated on: 19 Nov 2019, 08:02:43 PM
NCP-कांग्रेस की बैठक

NCP-कांग्रेस की बैठक (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

मुंबई:

महाराष्ट्र में चुनाव नतीजे के लगभग एक महीने होने वाले हैं. अभी तक प्रदेश में सरकार का गठन नहीं हुआ है. सरकार निर्माण का जो पेच फंसा है, वो और फंसता ही जा रहा है. किसी भी पार्टी को स्पष्ट जनाधान नहीं मिलने की वजह से सरकार का गठन नहीं हो पा रहा है. राज्यपाल के बुलावे के बाद कोई भी पार्टी बहुमत साबित नहीं कर सकी. बीजेपी ने पहले ही सरकार बनाने से साफ इंकार कर दिया था. उसके बाद एनसीपी और शिवसेना राज्यपाल के सामने बहुमत साबित नहीं कर सकी. इसके बाद प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया.

यह भी पढ़ें- Jallianwala Bagh National Memorial Amendment Bill पास, प्रह्लाद पटेल बोले- ट्रस्ट के कामकाज को लेकर कांग्रेस कभी गंभीरता नहीं दिखाई 

इसी पेच को सुलझाने के लिए एनसीपी और कांग्रेस नेताओं के बीच बुधवार को दिल्ली में बैठक होगी. एनसीपी नेता शरद पवार, प्रफुल्ल पटेल, अजित पवार और कांग्रेस की ओर से अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे, पृथ्वीराज चव्हाण, अशोक चव्हाण और कई नेता बैठक में शामिल होंगे. बैठक में सरकार निर्माण को लेकर रणनीति बनाई जाएगी. वहीं इससे पहले 17 नवंबर को शरद पवार और सोनिया गांधी के बीच बैठक हुई थी. बैठक का परिणाम बेनतीजा रहा. इसके बाद फिर से बैठक आयोजित की जा रही है.

यह भी पढ़ें- तमिलनाडु में कॉलेज छात्रा ने पेट्रोल छिड़कर खुद को लगाई आग, हालत गंभीर

वहीं इसके अलावा शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शिवसेना विधायकों की बैठक 22 नवंबर को बुलाई है. महाराष्ट्र में किसकी बनेगी सरकार कुछ पता नहीं चल रहा है. शिवसेना, एनसीपी-कांग्रेस की सरकार बनने का आसार दिख रहा है. लेकिन सरकार का फॉर्मूला तय नहीं हो पा रहा है. किस पार्टी के मुख्यमंत्री होंगे और कितने दिनों तक. फॉर्मूला तय करने के लिए बैठक बुलाई जा रही है.वहीं दूसरी तरफ केंद्रीय मंत्री और रिपब्लिक पार्टी ऑफ इंडिया के प्रमुख रामदास अठावले ने अब महाराष्ट्र में मचे सियासी घमासान में एक और फॉर्मूला सुझाया है. आरपीआई प्रमुख ने महाराष्ट्र में सियासी घमासान का हल निकालने के लिए एक नया सुझाव देते हुए कहा कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए 3 साल बीजेपी का सीएम बने और 2 साल शिवसेना का सीएम रहे.

यह भी पढ़ें- BJP विधायक रघुवंशी ने प्रदेश के मंत्री तोमर पर लगाया जान से मारने की धमकी देने का आरोप

रामदास अठावले ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत करते हुए बताया कि उन्होंने इस समझौते के बारे में शिवसेना नेता संजय राउत से बात की थी. इस बारे में मैंने उन्हें बताया कि इसके मुताबिक 3 साल (बीजेपी से सीएम) और 2 साल (शिवसेना से सीएम) रहेगा, जिसके बाद दोनों ही पार्टियां आराम से महाराष्ट्र में सरकार बना सकती हैं. इसके बाद अठावले ने कहा कि अगर भारतीय जनता पार्टी इस फार्मूले पर सहमत होती है तो शिवसेना भी इस पर विचार कर सकती है. आपको बता दें कि बीते 25 दिनों से महाराष्ट्र में सीएम के पद को लेकर वहां सियासी घमासान मचा हुआ है.

यह भी पढ़ें- अफगानिस्तान में अमेरिकी महिला का बलात्कार के आरोप में भारतीय पर चलेगा मुकदमा

आपको बता दें कि इसके पहले रविवार को भी दिल्ली में महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की बैठक हुई. यह बैठक पार्लियामेंट के लाइब्रेरी बिल्डिंग में हुई, इस बैठक में NDA के सभी घटक दल शामिल हुए. बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई. महाराष्ट्र सरकार निर्माण का मुद्दा सबसे अहम रहा. सभी घटक दलों के बीच समन्वय बनाने के लिए बैठक बुलाई गई थी. बैठक में पीएम मोदी भी मौजूद रहे. इस दौरान केंद्रीय मंत्री और रिपब्लिक पार्टी ऑफ इंडिया के प्रमुख रामदास अठावले ने महाराष्ट्र में सरकार निर्माण को लेकर बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मध्यस्थता करने की गुजारिश की गई थी.

First Published : 19 Nov 2019, 07:59:00 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.