News Nation Logo

MVA सरकार में बगावत, सरकार बनाने की कोशिश में बीजेपी; ये हैं आंकड़े

महाराष्ट्र की महाविकास आघाडी सरकार कभी भी गिर सकती है. शिवसेना के विधायक बागी हो चुके हैं. वो सरकार के पक्ष से बहुत दूर जा चुके हैं. ऐसे में उद्धव ठाकरे की सरकार पर खतरा उत्पन्न हो गया है. शिवसेना नेता संजय राउत ने बीजेपी पर आरोप भी लगाया है कि...

Written By : अभिषेक पांडेय | Edited By : Shravan Shukla | Updated on: 21 Jun 2022, 12:39:48 PM
Uddhav Thackarey

Uddhav Thackarey (Photo Credit: File)

highlights

  • संकट में महाविकास आघाडी सरकार
  • संजय राउत को भरोसा-लौट आएंगे शिंदे
  • सरकार बनाने की कोशिश कर सकती है बीजेपी

मुंबई/नई दिल्ली:  

महाराष्ट्र की महाविकास आघाडी सरकार कभी भी गिर सकती है. शिवसेना के विधायक बागी हो चुके हैं. वो सरकार के पक्ष से बहुत दूर जा चुके हैं. ऐसे में उद्धव ठाकरे की सरकार पर खतरा उत्पन्न हो गया है. शिवसेना नेता संजय राउत ने बीजेपी पर आरोप भी लगाया है कि वो सरकार को गिराने का प्रयास कर रही है. हालांकि उन्होंने कहा कि एकनाथ शिंदे शिवसेना के प्रति वफादार हैं और वो जल्द वापस लौट आएंगे. इस बीच महाराष्ट्र सरकार के कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे के साथ 'लापता' विधायकों की लिस्ट भी सामने आ चुकी है, जिनसे 'महाराष्ट्र सरकार' संपर्क स्थापित नहीं कर पा रही है. 

ये विधायक हुए सरकार से दूर

एकनाथ शिंदे के साथ महराष्ट्र से बाहर निकले शिवसेना विधायकों में प्रकाश सर्वे, महेश शिंदे, संजय शिंदे, संजय बंगारी, अब्दुल सत्तार (मंत्री), ज्ञानेश्वर चौगुले, शंभूराज देसाई (मंत्री), भारत गोगावाले, संजय राठौड और डॉ संजय रायमुलकरी के नाम हैं. वहीं, निर्दलीय विधायक चंद्रकांत पाटिल भी शिंदे के साथ हैं. इसके अलावा एकनाथ शिंदे के सांसद बेटे डॉ श्रीकांत शिंदे भी इन विधायकों के साथ मौजूद हैं.

ये भी पढ़ें: संकट में महाविकास आघाडी सरकार? उद्धव ठाकरे ने शिवसेना MLAs की बुलाई बैठक

बीजेपी ऐसे बना सकती है सरकार

बीजेपी अगले कुछ समय में नए सरकार बनाने पर काम कर सकती है. अगर आंकडों के गणित पर नजर डाले तो 12 विधायक अगर शिवसेना के टूटते हैं, तो उन्हें राज्यपाल के जरिए मनेनीत करवा कर फिर से सदन भेजा जा सकता है. अगर आंकड़ों पर नजर डालें तो बीजेपी को विधान परिषद चुनाव में 134 वोट मिला था. इसका मतलब है कि बीजेपी करीब 270 के सदन में बहुमत हासिल कर सकती है. वहीं, दूसरी तरफ 288 की विधान सभा में NCP के दो विधायक अनिल देशमुख और नवाब मलिक जेल में है. शिवसेना के एक विधायक रमेश लटक की मौत के बाद सदन का आंकड़ा 285 हो गया है. अगर शिवसेना के 12 विधायक टूटते हैं और निर्दलीय बीजेपी के साथ जाते हैं तो सदन की संख्या 270 के नीचे चली जाएगी. ऐसे में सरकार अल्पमत में आ जाएगी, जिससे बीजेपी की नयी सरकार बन सकती है. वहीं, शिवसेना के बागी विधायकों को राज्यपाल के जरिए सदन में बुलाया जा सकता है. 

First Published : 21 Jun 2022, 11:34:41 AM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.