News Nation Logo

PM मोदी को शिवाजी महाराज और अमित शाह को तानाजी दिखाने पर मचा बवाल

एक वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शिवाजी महाराज और गृह मंत्री अमित शाह को उनके सेनापति तानाजी के रूप में दिखाया गया है. इसके बाद से ही शिवाजी समर्थकों के बीच हंगामा खड़ा हो गया.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 22 Jan 2020, 12:05:27 PM
शिवाजी महाराज पर फिर छिड़ा विवाद

शिवाजी महाराज पर फिर छिड़ा विवाद (Photo Credit: (सांकेतिक चित्र))

नई दिल्ली:  

छत्रपति शिवाजी महाराज को लेकर हो रहा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. दरअसल, एक वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शिवाजी महाराज और गृह मंत्री अमित शाह को उनके सेनापति तानाजी के रूप में दिखाया गया है. इसके बाद से ही शिवाजी समर्थकों के बीच हंगामा खड़ा हो गया. इस मामले की शिकायत आने के बाद महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने यूट्यूब से इस विडियो को हटाने की मांग की है.

ये भी पढ़ें: सिर्फ 342 सैनिकों के साथ तानाजी मालुसरे ने जीता था दुर्गम कोढ़ाणा दुर्ग

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस वीडियो को 'पॉलिटिकल कीड़ा' नाम के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया था, जिसे बाद में डिलीट कर दिया गया. बता दें कि फिल्म तानाजी के इस वीडियो में शिवाजी महाराज के चेहरे पर नरेंद्र मोदी का फोटो लगा दिया गया था. वहीं, तानाजी के चेहरे पर गृहमंत्री अमित शाह का चेहरा लगाकर उन्हें तानाजी दिखाया गया है.

इस वीडियो को दिल्ली चुनाव से जोड़ते हुए आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली सीएम केजरीवाल को उदयभान राठौड़ के रूप में पेश किया गया है. वीडियो में दिल्ली चुनावों को सिंहगढ़ किले की लड़ाई बताते हुए लिखा गया है, 'जो दिल्ली जीत गया, समझो दिल जीत गया.' केजरीवाल को वीडियो में दिखाए जाने पर 'आप' नेता प्रीति शर्मा मेनन ने कहा, 'शिवाजी के स्थान पर मोदी का और तान्हाजी के स्थान पर अमित शाह का चेहरा लगाना आईटी सेल की बड़ी गलती है. महाराष्ट्र के सभी लोगों को हमारे नेताओं की बेइज्जती के लिए इस घटना की निंदा करनी चाहिए.'

वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने इस मामले पर कहा कि उन्होंने ये वीडियो संभाजी भिड़े और बीजेपी नेताओं को भेजा है और वह उनकी प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा कर रहे हैं. संजय राउत ने आगे कहा, 'मैं उन लोगों की प्रतिक्रिया देखना चाहता हूं, जिन्होंने शिवसेना के खिलाफ सतारा और सांगली में बंद बुलाया था. इस वीडियो पर अभी तक एक भी आदमी ने जवाब नहीं दिया है.'

शिवसेना के विरोध का समर्थन करते हुए राज्यसभा के सांसद संभाजी राजे छत्रपति (छत्रपति शिवाजी महाराज के 13वीं पीढ़ी के वंशज) ने कहा कि सबसे पहले एक किताब और अब फिल्म का ट्रेलर, इन दोनों ने शिव भक्तों की भावनाओं को आहत किया है.

संभाजी राजे छत्रपति ने अपील करते हुए कहा, 'छत्रपति शिवाजी महाराज की छवि का प्रयोग तुच्छ राजनीति के लिए नहीं की जानी चाहिए. यह उचित, सहनीय और अनिंदनीय नहीं है. केंद्र सरकार को इसकी तुरंत जांच करानी चाहिए, दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जानी चाहिए.'

ये भी पढ़ें: वीर सावरकर ने अंग्रेजों के मामले में शिवाजी का किया था अनुकरण, कांग्रेस ने फैलाया झूठ का जाल

छत्रपति शिवाजी महाराज के नेतृत्व में तानाजी ने पुणे स्थित सिंहगढ़ किला के लिए 4 फरवरी 1670 में ऐतिहासिक लड़ाई लड़ी थी. किला राजपूत सैनिक उदयभान सिंह राठौर के कब्जे में था, जिनका नेतृत्व मुगलों के सहयोगी महाराजा जयसिंह करते थे.

बात करें फिल्म 'तानाजी : द अनसंग वारियर' (Tanhaji: The Unsung Warrior) के बारे में तो फिल्म में अजय देवगन (Ajay Devgn) के साथ काजोल और सैफ अली खान मुख्य भूमिका में नजर आए. 

First Published : 22 Jan 2020, 11:57:21 AM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.