News Nation Logo
Banner

महाराष्ट्र सरकार ने सभी विभागों को खाते सरकारी बैंकों में खोलने को कहा

महाराष्ट्र सरकार ने रिजर्व बैंक की अपील के बावजूद राज्य सरकार के सभी विभागों को अपने खाते निजी बैंकों से हटाकर सरकारी बैंकों में खोलने का शुक्रवार को निर्देश दिया. महाराष्ट्र सरकार ने इस बाबत शुक्रवार को सभी विभागों को एक परिपत्र जारी किया.

Bhasha | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 14 Mar 2020, 01:00:00 AM
Uddhav thackeray

उद्धव ठाकरे (Photo Credit: फाइल फोटो)

मुंबई:  

महाराष्ट्र सरकार ने रिजर्व बैंक की अपील के बावजूद राज्य सरकार के सभी विभागों को अपने खाते निजी बैंकों से हटाकर सरकारी बैंकों में खोलने का शुक्रवार को निर्देश दिया. महाराष्ट्र सरकार ने इस बाबत शुक्रवार को सभी विभागों को एक परिपत्र जारी किया. रिजर्व बैंक ने कुछ राज्यों द्वारा निजी बैंकों में खाते बंद कर सरकारी बैंकों में खोलने की खबरों को लेकर बृहस्पतिवार को सभी राज्यों को पत्र लिखकर ऐसा नहीं करने की अपील की थी.

महाराष्ट्र सरकार के वित्त विभाग ने परिपत्र में कहा,‘सभी सरकारी कार्यालयों, सरकारी उपक्रमों और निगमों को यह सुनिश्चित करने की सलाह दी जाती है कि बैंकिंग से संबंधी उनके सारे क्रिया-कलाप सिर्फ सरकारी बैंकों के साथ ही हों.’

इसे भी पढ़ें:बड़ी खबर: कोरोना से हुई दूसरी मौत, दिल्ली में 69 साल की महिला से Corona virus ने छीन ली जान

परिपत्र में कहा गया कि वेतन व भत्ता समेत सभी सरकारी योजनाओं का पैसा रखने के लिये निजी या सहकारी बैंकों में खोले गये सभी खाते एक अप्रैल तक बंद करा दिये जाने चाहिये. सरकार ने 11 सरकारी बैंकों की सूची के साथ अधिकारियों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि अप्रैल से कर्मचारियों के वेतन और भत्ते सिर्फ सरकारी बैंकों से दिये जायें.

और पढ़ें:IND vs SA: लखनऊ और कोलकाता के एकदिवसीय मैच कोरोना वायरस के चलते रद्द किए गए

सरकार ने सभी पेंशनभोगियों को अपने खाते सरकारी बैंकों में हस्तांतरित करने को भी कहा. सरकार ने इसके लिये उन 13 बैंकों की सूची भी जारी की, जिनके साथ राज्य सरकार का कारोबार है. राज्य सरकार ने सभी निगमों और उपक्रमों से भी यह सुनिश्चित करने को कहा उनके निवेश सिर्फ सरकारी बैंकों में जमा रहें.

First Published : 14 Mar 2020, 01:00:00 AM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.