News Nation Logo

दाऊद इब्राहिम मनी लॉन्ड्रिंग केस में अब नवाब मलिक के बेटे फराज को ED ने किया तलब 

 ईडी के समन के बाद फराज मलिक के वकील ने जांच एजेंसी को संबंधित दस्तावेज जमा करने के लिए एक हफ्ते का समय मांगा है. हालांकि ईडी ने इस अनुरोध को खारिज कर दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 01 Mar 2022, 08:18:31 PM
nawab malik

नवाब मलिक, एनसीपी नेता (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • फराज मलिक के वकील ने दस्तावेज जमा करने के लिए एक हफ्ते का समय मांगा
  • ईडी ने इस अनुरोध को खारिज कर दिया है
  • नवाब मलिक को जे जे अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद ईडी कार्यालय में वापस लाया गया

नई दिल्ली:  

दाऊद इब्राहिम मनी लॉन्ड्रिंग केस : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के खिलाफ एजेंसी द्वारा दर्ज मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार राकांपा मंत्री नवाब मलिक के बेटे फराज मलिक को तलब किया है. नवाब मलिक की बेटी नीलोफर मलिक खान ने मीडिया को बताया कि फराज को सोमवार (28 फरवरी) सुबह 11.30 बजे ईडी का समन मिला. ईडी ने एक पेपर मांगा है. वह आज नहीं जाएगा.  ईडी के समन के बाद फराज मलिक के वकील ने जांच एजेंसी को संबंधित दस्तावेज जमा करने के लिए एक हफ्ते का समय मांगा है. हालांकि ईडी ने इस अनुरोध को खारिज कर दिया है.

इस बीच, सोमवार को नवाब मलिक को जे जे अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद दक्षिण मुंबई के बैलार्ड एस्टेट स्थित ईडी कार्यालय में वापस लाया गया. नवाब मलिक को 8 मार्च तक ईडी की हिरासत में भेज दिया गया है. उन्होंने पूछताछ के दौरान बेचैनी की शिकायत की थी और उनके मूत्र में रक्त पाए जाने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

यह भी पढ़ें: यूक्रेन से भारत पहुंचे छात्रों ने बताई आपबीती, हुआ ऐसा सलूक कि निकल आए आंसू

अधिकारियों ने कहा कि नवाब मलिक को कोई गंभीर स्वास्थ्य समस्या नहीं थी. ईडी ने नवाब मलिक को पिछले बुधवार को दाऊद इब्राहिम से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया था. विशेष पीएमएलए अदालत ने मलिक को 3 मार्च तक ईडी की हिरासत में भेज दिया.

शुक्रवार को, जब ईडी मलिक को नियमित चिकित्सा जांच के लिए जे जे अस्पताल ले गया, तो उसने अचानक बेचैनी की शिकायत की और डॉक्टरों के आग्रह पर उसे भर्ती कराया गया. डॉक्टरों ने मलिक को निगरानी में रखा और परीक्षण किया, जबकि सीआरपीएफ के साथ ईडी अधिकारियों की एक टीम ने बाहरी लोगों को उनसे मिलने से रोका. स्वास्थ्य जांच रिपोर्ट आने के बाद डॉक्टरों ने मलिक को सोमवार को डिस्चार्ज देने का फैसला किया.

ईडी के सूत्रों ने कहा कि नवाब मलिक ने दाऊद इब्राहिम की बहन हसीना पारकर के साथ कुर्ला संपत्ति को अवैध रूप से खरीदने के लिए सौदा किया था. उनके बेटे फराज पर सौदे से संबंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने और हसीना पारकर को भुगतान में शामिल होने का आरोप लगाया गया है.

First Published : 01 Mar 2022, 05:16:39 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.