logo-image
लोकसभा चुनाव

हनुमान चालीसा पर बोले देवेंद्र फडणवीस- अब लंका का दहन होगा, हमारे साथ वानर सेना खड़ी है

महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा को लेकर बवाल मचा हुआ है. मुंबई में हिंदीभाषी के करीबी कहे जाने वाले महाराष्‍ट्र के पूर्व सीएम और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) को रव‍िवार को गोरेगांव के नेस्को हॉल में सम्मानित किया गया.

Updated on: 15 May 2022, 08:47 PM

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा को लेकर बवाल मचा हुआ है. मुंबई में हिंदीभाषी के करीबी कहे जाने वाले महाराष्‍ट्र के पूर्व सीएम और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) को रव‍िवार को गोरेगांव के नेस्को हॉल में सम्मानित किया गया. इस दौरान देवेंद्र फडणवीस और अन्य भाजपा नेताओं ने हनुमान चालीसा का पाठ किया. इस सभा में लोग अपने हाथों में हनुमान चालीसा लेकर आए थे. सभी का कहना है कि मुंबई का उत्तर भारतीय बीजेपी के साथ है और आज करारा जबाब मिलेगा.
 
देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि कल की सभा को वो कह रहे थे कि मास्टर सभा है, लेकिन पूरा भाषण सुना तो पता चला कि लाफ्टर सभा है. स्वराज के लिए लड़ने वाले छत्रपति संभाजी महाराज और पापियों के पेट फाड़ने वाले भगवान नरसिंह की भी जयंती है. कल कोरवो की सभा हुई और आज पांडव की सभा है. मुंबई में कई सवाल हैं जिसका जबाब मुख्यमंत्री ने नहीं दिए. उन्होंने ढाई साल में एक भी भाषण प्रदेश के विकास को लेकर नहीं दिया है.

उन्होंने कहा कि हनुमान चालीसा की दो लाइन याद है- राम दुआरे तुम तुम रखवारे होत न आज्ञा पैसारे. क्या बाला साहब ने सोचा होगा कि हनुमान चालीसा पढ़ने पर देशद्रोह और औरंगजेब की कब्र पर जाने वाले लोगों को राज शिष्टाचार है. ओवैसी सुन लो कि कुत्ता भी औरंगजेब की कब्र पर पिशाब नहीं करेगा. अब हिंदुस्तान में भगवा लहराएगा. हमारी तलवार लहराएगी. मुंबई कर को मराठी भी समझता है. एक मुंबई कर को कुछ बताना है, इसलिए मराठी में बोलना है.

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मैंने जब कहा कि राम जन्मभूमि पर एक भी नेता नहीं है, ऐसा कहा तो कितनी मिर्ची लगी. 1992 में हम बाबरी तोड़ने गए थे. कोठारी बंधू ने जब भगवा लहराया था तो भी हम थे. मैं बदायूं की जेल में था मैं तो सोचा कि कोई शिवसेना का आदमी पहुंचेगा, लेकिन नहीं आया. मैं कभी फाइव स्टार की राजनीति नहीं की. सोने का चम्मच लेकर नहीं पैदा हुआ. मैं कश्मीर में भी मनोबल बढ़ाने के लिए गया था. 

उन्होंने कहा कि कारसेवकों का मजाक उड़ाने वालों सुन लो जब भी जरूरत पड़ेगी हम फिर जाएंगे. कल कहा कि देवेंद्र पाव रखते तो भी तो गिर जाता. उद्धव जी अगर आपको लगता है मेरे पीठ में खंजर घोपकर आप मेरा वजन कम कर दोगे तो मैं आपके बाबरी रूपी ढांचा को भी गिराए बिना नहीं रुकूंगा. कौन-सा सामना किया, कौन-से आंदोलन में रहे, कौन-से संघर्ष में रहे, कोरोना में मैदान में था, उद्धव फेसबुक लाइव थे. 

फडणवीस ने आगे कहा कि बाला साहब बाघ थे, लेकिन इस समय एक बाघ है, उसका नाम है नरेंद्र मोदी. आतंकियों के घर में घुसकर मारने का काम नरेंद्र मोदी ने किया. तुमने हमें लात मारी, लात कौन मारता है. जवान तो ठोकर मारता है. तुम्हारे यहां शरजील आया भाषण दिया, लेकिन आपने कुछ नहीं किया. कल का भाषण सोनिया गांधी को समर्पित था, हेडगेवार स्वतंत्रता सेनानी थे, इमरजेंसी में ये लोग इंदिरा के साथ थे, संयुक्त महाराष्ट्र में जनसंघ शामिल था.

उन्होंने आगे कहा कि मुंबई अलग करना है, लेकिन महाराष्ट्र से नहीं भ्रष्टाचार से मुक्त करना है. मुंबई का एक ही बाप है वो है छत्रपति शिवाजी महाराज. महाराष्ट्र को आईपीएल की तरह ही चला रहे हो. राजा को कैसे पता चलेगा कि गरीब कैसे रहता है, नरेंद्र मोदी राज रिऋ हैं. अगर मेरा सुबह का शपथविधि सही होता तो भी दाउद का दोस्त वाजे मेरे मंत्रीमडल में नहीं होता.

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि अब हनुमान चालीसा का पाठ हो रहा है, अब लंका का दहन होगा और हमारे साथ वानर सेना खड़ी है. उन्होंने आगे कहबा कि आपका हिंदुत्व गधाधारी ही है. गधा लात मारता है आपने कहा न, लात मारी, सच्चा पहलवान टक्कर देता. शरजील को पकड़ कर नहीं ला सके. मोदी ने राहुल भट्ट के हत्यारों को 24 घंटों में मौत के घाट उतारा. कल का उद्धव ठाकरे का भाषण सोनिया गांधी को समर्पित था, RSS को कोसने की भाषा कांग्रेस की ही है. हेडगेवार जी का नाम स्वाधीनता सैनानियों में है. आप न मुंबई हो न महाराष्ट्र न हिंदुत्व हो. मुंबई और महाराष्ट्र का एक ही बाप है छत्रपति शिवाजी महाराज.