News Nation Logo

अनिल देशमुख के दावों को देवेंद्र फडणवीस ने झुठलाया, बोले- गृह मंत्री नहीं थे मंत्री, पवार को दी गई गलत जानकारी

अनिल देशमुख के दावों को अब महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने झुठलाया है. फडणवीस ने कहा कि 17 फरवरी को 3 बजे दोपहर को अनिल देशमुख अपने घर से सरकारी गेस्ट हाउस गए थे.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 23 Mar 2021, 12:13:35 PM
Devendra Fadnavis

अनिल देशमुख के दावों को फडणवीस ने झुठलाया, शरद पवार पर कही ये बात (Photo Credit: ANI)

highlights

  • देशमुख के दावों को फडणवीस ने झुठलाया
  • 'गृह मंत्री देशमुख होम क्वारंटीन में नहीं थे'
  • 'शरद पवार को सही ब्रीफिंग नहीं दी गई थी'

मुंबई:

100 करोड़ का कथित वसूली कांड में घिरे गृह मंत्री अनिल देशमुख पर महाराष्ट्र में सियासी बवाल मचा है. मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के 'लेटर बम' के बाद गृह मंत्री ने अपने बचाव में सफाई दी तो अनिल देशमुख के दावों को अब महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने झुठलाया है. फडणवीस ने कहा कि 17 फरवरी को 3 बजे दोपहर को अनिल देशमुख अपने घर से सरकारी गेस्ट हाउस गए थे. 24 फरवरी 11 बजे अनिल देशमुख मंत्रालय भी गए थे. उन्होंने कहा कि गृह मंत्री होम क्वारेंटाइन में नहीं थे. इस दरम्यान वो कई लोगों को मिले हैं जिसकी जांच होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें : हरकत में महाराष्ट्र सरकार, HC के पूर्व जज की निगरानी में कमेटी बनाने पर विचार- सूत्र

'शरद पवार को गलत जानकारी दी गई'

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने मुंबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा, 'कल आदरणीय पवार साहब को सही ब्रीफिंग नहीं दी गई थी, एक राष्ट्रीय नेता के मुंह से गलत बातें कहलवाई गईं. 15 से 27 फरवरी के बीच गृह मंत्री जो होम क्वारंटीन थे, वो आइसोलेशन में नहीं थे. कई लोग उनसे मिले हैं.' फडणवीस ने कहा, 'शरद पवार को गलत जानकारी दी गई, अब सारे दस्तावेज सामने हैं. इससे साफ पता चल रहा है कि अनिल देशमुख गलत जानकारी दे रहे हैं. इस बात को लेकर 17 और 24 की उनकी ट्रेवल डिटेल आ गई है.' इस दौरान फडणवीस ने देशमुख की ट्रैवल हिस्ट्री दिखाई. पुलिस का रूटप्लान भी सामने रखा. 

फोन टैपिंग मामले पर भी बोले देवेंद्र फडणवीस

उन्होंने कहा, 'पिछले साल अगस्त के महीने में तत्कालीन कमिश्नर, स्टेट सीआईडी रश्मि शुक्ला ने फोन टैपिंग की एक रिपोर्ट डीजी सुबोध जायसवाल को सौंपी थी. इस रिपोर्ट में पुलिस अधिकारियों के तबादले के एवज में रिश्वत लेने की बात सामने आई थी.' उन्होंने कहा, 'दलालों के एक रैकेट का भंडाफोड़ हुआ था. ये टैपिंग ACS, HOME की मंजूरी के बाद की गई थी. सुबोध जायसवाल ने ये रिपोर्ट सीएम उद्धव ठाकरे को दी. ठाकरे ने इसपर चिंता जताई और इस रिपोर्ट को गृह मंत्री अनिल देशमुख को भेज दिया. लेकिन गृहमंत्री ने इस पर कोई कार्रवाई न करके उल्टे रश्मि शुक्ला को साइड पोस्टिंग पर भेज दिया.'

यह भी पढ़ें : असम में जेपी नड्डा ने जारी किया बीजेपी का संकल्प पत्र, जनता के लिए 10 बड़े ऐलान

पूरे घटनाक्रम को लेकर केंद्रीय गृह सचिव से दिल्ली में मिलेंगे देवेंद्र फडणवीस

फडणवीस ने कहा, 'गृहमंत्री इस रिपोर्ट से बेहद नाराज थे, क्योंकि उन्हें उनके कई अफसरों के नामों के एक्सपोज होने का खतरा दिखने लगा था.'  इस पूरे घटनाक्रम को लेकर बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस आज दिल्ली जाएंगे. वह दिल्ली में गृह सचिव से मुलाकात कर सीबीआई जांच की मांग करेंगे. देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मैंने गृह सचिव से मिलने का समय मांगा है. इस मामले की पूरी जानकारी गृह सचिव को दूंगा. इसके साथ ही देवेंद्र फडणवीस ने मामले की जांच सीबीआई से कराए जाने की मांग की है. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 23 Mar 2021, 11:59:33 AM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो