logo-image
लोकसभा चुनाव

IIT मुंबई में छात्रों के विवादित भाषण और पोस्टर पर पाबंदी, जारी हुआ सर्कुलर

जेएनयू और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में छात्रों पर विवादित और भड़काऊ भाषण के बाद आईआईटी मुंबई ने छात्रों के लिए सर्कुलर जारी किया है. इस सर्कुलर में छात्रों से कहा गया है कि वह कैंपस में किसी भी तरह की देश विरोधी गतिविधि नहीं चलेगी.

Updated on: 29 Jan 2020, 10:19 AM

मुंबई:

जेएनयू और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में छात्रों पर विवादित और भड़काऊ भाषण के बाद आईआईटी मुंबई ने छात्रों के लिए सर्कुलर जारी किया है. इस सर्कुलर में छात्रों से कहा गया है कि वह कैंपस में किसी भी तरह की देश विरोधी गतिविधि नहीं चलेगी. छात्रों के ऐसे भाषण पर रोक लगा दी गई है कि जिससे किसी भी तरह की अशांति पैदा हो. इसके साथ ही बिना इजाजत कोई पोस्टर या पम्फलेट भी नहीं बांटा जा सकेगा.

यह भी पढ़ेंः CAA, NRC और EVM के खिलाफ आज भारत बंद, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के बाद से विभिन्न विश्वविद्यालयों के छात्र इसके विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं. जेएनयू और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में छात्रों द्वारा भड़काऊ भाषण भी दिए गए. जेएनयू छात्र शरजील इमाम के भड़काऊ भाषण पर काफी हंगामा हुआ. उसके खिलाफ पांच राज्यों में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया. मंगलवार को उसे बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया गया. इसके अलावा जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद ने भी विवादित बयान दिया. 

विभिन्न विश्वविद्यालयों में हो रहे प्रदर्शन को देखते हुए आईआईटी मुंबई ने छात्रों के लिए सर्कुलर जारी किया है. इस सर्कुलर के मुताबिक छात्र ऐसा कोई भाषण कैंपस या हॉस्टल में न दें जिससे वहां की शांति व्यवस्था प्रभावित हो. इसके अलावा किसी की तरह के विवादित पोस्टर और पम्फलेट पर भी रोक लगी दी गई है.