News Nation Logo
Banner

BJP नेता के राष्ट्रपति शासन वाले बयान पर भड़की शिवसेना, संजय राउत ने कही ये बात

शिवसेना (Shiv Sena) ने शनिवार को आगाह करते हुए कहा कि राष्ट्रपति (President) देश का संवैधानिक प्रमुख है और भारतीय जनता पार्टी (BJP) द्वारा राष्ट्रपति या राज्यपाल के कार्यालय का दुरुपयोग करने का कोई भी प्रयास 'देश के लिए खतरा' है.

By : Sunil Mishra | Updated on: 02 Nov 2019, 01:08:06 PM
'राष्ट्रपति-राज्यपाल कार्यालय के दुरुपयोग का प्रयास देश के लिए खतरा'

'राष्ट्रपति-राज्यपाल कार्यालय के दुरुपयोग का प्रयास देश के लिए खतरा' (Photo Credit: IANS)

मुंबई:

शिवसेना (Shiv Sena) ने शनिवार को आगाह करते हुए कहा कि राष्ट्रपति (President) देश का संवैधानिक प्रमुख है और भारतीय जनता पार्टी (BJP) द्वारा राष्ट्रपति या राज्यपाल के कार्यालय का दुरुपयोग करने का कोई भी प्रयास 'देश के लिए खतरा' है. भाजपा के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार ने शुक्रवार को कहा था कि यदि महाराष्ट्र (Maharashtra) में 7 नवंबर तक सरकार नहीं बनती है, तो ऐसी स्थिति में राज्य में राष्ट्रपति शासन (President Rule) लग सकता है.

यह भी पढ़ें : महाराष्‍ट्र : बीजेपी+शिवसेना, बीजेपी+एनसीपी, शिवसेना+NCP+कांग्रेस या कुछ और

भाजपा नेता पर निशाना साधते हुए शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि राज्य के राजनीतिक संकट में राष्ट्रपति कार्यालय को इस तरह से घसीटना 'अनुचित और गलत' है.

राउत ने कहा, "राष्ट्रपति देश का संवैधानिक प्रमुख है.. वह किसी की जेब में नहीं है. इस तरह की धमकी देना जनता के जनादेश का अपमान है." उन्होंने कहा कि ना तो कोई भी 'मराठी मानूस' मुनगंटीवार के बयान से सहमत है और न ही शिवसेना को इस तरह की धमकियों से रोका जा सकता है.

यह भी पढ़ें : केंद्रीय मंत्री के हाथ देने पर नहीं रुकी ट्रेन, गार्ड के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

उन्होंने दोहराया कि शिवसेना अपने गठबंधन की प्रतिबद्धताओं को भाजपा के साथ 'अंतिम क्षण तक' सम्मान देगी, लेकिन इसके बाद 'रूको और देखो' की नीति को नहीं अपनाया जाएगा.

First Published : 02 Nov 2019, 12:24:50 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.