logo-image
लोकसभा चुनाव

बीजेपी के संपर्क में उद्धव! आदित्य ठाकरे ने अटकलों पर लगाया विराम

शिवसेना (यूबीटी) के नेता आदित्य ठाकरे ने सोशल मीडिया पर एक ट्वीट किया है. जिसने कई कयासों पर विराम लगा दिया.

Updated on: 07 Jun 2024, 06:22 AM

highlights

  • उद्धव ठाकरे बीजेपी के संपर्क में!
  • आदित्य ठाकरे ने अटकलों पर लगाया विराम
  • कहा- अहंकारी, सत्तावादी, अलोकतांत्रिक

Mumbai:

महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन के बीच जहां एनडीए लगातार बैठकें कर रही है तो दूसरी तरफ अच्छे प्रदर्शन को लेकर इंडिया एलायंस में भी मीटिंग चल रही है. महाराष्ट्र चुनाव के नतीजे के बाद उद्धव ठाकरे के बीजेपी के संपर्क में आने की खबर भी सामने आ चुकी है. बुधवार को इंडिया एलायंस की बैठक शाम 6 बजे हुई, जिसमें ठाकरे शामिल नहीं हुए. जिसके बाद से अटकलें और भी लगाई जाने लगी है. इन सबके बीच उद्धव ठाकरे के बेटे और शिवसेना (यूबीटी) के नेता आदित्य ठाकरे ने सोशल मीडिया पर एक ट्वीट किया है. जिसने कई कयासों पर विराम लगा दिया.

यह भी पढ़ें- अजीत पवार गुट के नेता शरद पार्टी के संपर्क में, 5 नेता मीटिंग से गायब

आदित्य ठाकरे ने अटकलों पर लगाया विराम

आदित्य ठाकरे ने अपने ऑफिशियल एक्स हैंडल पर ट्वीट करते हुए लिखा कि देश ने संविधान बदलने और लोकतंत्र ख़त्म करने की बीजेपी की कोशिश को नाकाम कर दिया. चुनावों ने साबित कर दिया है कि हमारे देश में अहंकार के लिए कोई जगह नहीं है. देश ने उन लोगों को खारिज कर दिया जो अहंकारी, सत्तावादी, अलोकतांत्रिक हैं. साथ ही जो हमारे संविधान के बजाय देश में अपनी पार्टी को थोपना चाहते हैं. दो बार बहुमत मिलने के बाद जो आंकड़ा 240 पर आया, जनता ने भाजपा को नकार दिया है.

महाराष्ट्र में बीजेपी ने राज्य को लूटा. महाराष्ट्र की आर्थिक ताकत...महाराष्ट्र के स्वाभिमान को बीजेपी ने खत्म करने की कोशिश की. ऐसी महाराष्ट्र विरोधी भाजपा को मतदाताओं ने खारिज कर दिया और इस वर्ष निश्चित रूप से इसे दोहराया जाएगा. हमने इंडिया एलायंस के सभी मतदाताओं और कार्यकर्ताओं के लिए, अपने राष्ट्र के लिए, संविधान के लिए, अपने लोकतंत्र के लिए कड़ा संघर्ष किया. एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर सफलतापूर्वक पूरा हो गया है. जब तक हम लक्ष्य तक नहीं पहुंच जाते, तब तक लड़ाई जारी रहेगी.

जानिए महाराष्ट्र में सीटों का समीकरण

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में कुल 48 लोकसभा सीटें हैं. जिसमें से इस चुनाव में सबसे ज्यादा कांग्रेस को 13 सीटें मिली. वहीं, उद्धव गुट को 9 और शरद पवार की पार्टी ने 8 सीटों पर जीत दर्ज की. उधर बीजेपी को 9 सीटें, शिवसेना (शिंदे) को 7 और एनसीपी (अजित पवार) की पार्टी को सिर्फ 1 सीट पर जीत मिली. वहीं, सांगली से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर जीत दर्ज कर उन्होंने कांग्रेस को अपना समर्थन देने का ऐलान कर दिया. एनसीपी और शिवसेना के बीच टूट के बाद यह महाराष्ट्र में पहला बड़ा चुनाव था.