News Nation Logo
Banner

तीसरी लहर में महाराष्ट्र में आ सकते हैं 60 लाख मामले, मुंबई में रोज आएंगे 1.3 लाख केस

महाराष्ट्र में डेल्टा वेरिएंट के 27 नए मामले अभी सामने आए हैं. एक ताजा रिपोर्ट में सामने आया है कि महाराष्ट्र में तीसरी लहर का सबसे अधिक खतरा मुंबई और पुणे में हो सकता है.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 25 Aug 2021, 02:51:49 PM
Corona Virus

कोरोना वायरस (Photo Credit: न्यूज नेशन)

मुंबई:

देश में कोरोना (Corona Virus) की तीसरी लहर के खतरे के बीच बुधवार को नए मामलों में तेजी देखने को मिली. बुधवार को देश में 37 हजार से अधिक कोरोना के नए मामले सामने आए जो मंगलवार के मुकाबले 12 हजार अधिक थे. महाराष्ट्र में संक्रमण के मामलों का खतरा अभी भी बना हुआ है. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार प्रदेश में कोरोना के डेल्टा वेरिएंट के 103 मामले अभी तक सामने आ चुके हैं. महाराष्ट्र में डेल्टा वेरिएंट के 27 नए मामले अभी सामने आए हैं. एक ताजा रिपोर्ट में सामने आया है कि महाराष्ट्र में तीसरी लहर का सबसे अधिक खतरा मुंबई और पुणे में हो सकता है.

यह भी पढ़ेंः कोरोना के बढ़ते मामलों ने फिर डराया, एक ही दिन में बढ़े 12 हजार नए केस 

महाराष्ट्र में आ सकते हैं 60 लाख केस
स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका जताई है और कहा है कि तीसरी लहर के दौरान प्रदेश में 60 लाख संक्रमण के मामले सामने आ सकते हैं, जिसमे से अधिकतर मामले मुंबई और पुणे के हो सकते हैं. एक्सपर्ट्स का कहना है कि मुंबई में कोरोना की दूसरी लहर के चरम के दौरान 91100 के सामने आए थे. पुणे में कोरोना की दूसरी लहर के चरम के दौरान 19 मार्च को 1.25 लाख मामले सामने आए थे. स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि तीसरी लहर के चरम के दौरान यहां 1.87 लाख मामले सामने आ सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः  निर्मला सीतारमण ने सरकारी बैकों के प्रमुखों के साथ की बैठक, EASE 4.0 किया लॉन्च

मुंबई और पुणे में आएंगे सबसे अधिक मामले 
रिपोर्ट्स के मुताबिक कोरोना की तीसरी लहर के दौरान अधिकतर मामले मुंबई और पुणे में आ सकते हैं, ऐसे में स्वास्थ्य विभाग को इसी हिसाब से अपनी योजना तैयार करनी चाहिए. वहीं थाणे जिले में कोरोना की दूसरी लहर की पीक के दौरान 86732 मामले सामने आए थे, यहां तीसरी लहर के दौरान 1.3 मामले सामने आने की संभावना है, लिहाजा यहां भी बड़ी संख्या आईसीयू बेड और वेंटिलेटर की आवश्यकता होगी. नागपुर में तीसरी लहर के दौरान 1.21 लाख मामले आ सकते हैं, जहां 850 आईसीयू बेड और वेंटिलेटर की आवश्यकता पड़ सकती है. 

First Published : 25 Aug 2021, 02:51:49 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो