News Nation Logo

BREAKING

Banner

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को जबलपुर हाईकोर्ट से बड़ी राहत

संबित पात्रा को जबलपुर हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है. जबलपुर हाईकोर्ट ने संबित पात्रा के खिलाफ भोपाल में दर्ज मामले की कार्रवाई पर रोक लगा दी है.

By : Drigraj Madheshia | Updated on: 20 Mar 2019, 03:08:09 PM
बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा का फाइल फोटो

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा का फाइल फोटो

जबलपुर:

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को जबलपुर हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है. जबलपुर हाईकोर्ट ने संबित पात्रा के खिलाफ भोपाल में दर्ज मामले की कार्रवाई पर रोक लगा दी है. संबित पात्रा की ओर से हाईकोर्ट में भोपाल में चल रहे मामले के खिलाफ याचिका दायर की गई थी, जिसमें कहा गया था कि अक्टूबर 2018 में विधानसभा चुनाव के दौरान नेशनल हेराल्ड भ्रष्टाचार मामले पर संबित पात्रा के द्वारा एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई थी, जिसके खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज कर लिया गया.

यह भी पढ़ेंः संबित पात्रा ने नेशनल हेराल्‍ड को प्राॅपर्टी ऑफ करप्‍शन कहा, कांग्रेस ने उठाए प्रेस कांफ्रेंस पर सवाल

याचिका में कहा गया है कि पुलिस को इस मामले में सीधे तौर पर एफआईआर दर्ज करने का अधिकार नहीं था, लिहाजा उनके खिलाफ चल रही कार्यवाही पर रोक लगाई जाए. हाई कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई के बाद राज्य सरकार को नोटिस जारी कर निचली अदालत की कार्यवाही पर रोक लगा दी है. आपको बता दें कि पुलिस ने संबित पात्रा के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था इसके बाद निचली अदालत ने संबित पात्रा के खिलाफ जमानती वारंट भी जारी किया था.

यह भी पढ़ेंः नेशनल हेराल्ड केस में गांधी परिवार को बड़ा झटका, कोर्ट ने दो हफ्ते में हेराल्‍ड हाउस खाली करने का दिया आदेश

बता दें कांग्रेस नेताओं के खिलाफ आयकर विभाग की जांच नेशनल हेराल्ड मामले के संबंध में निचली अदालत में भाजपा नेता सुब्रमणियम स्वामी की निजी आपराधिक शिकायत का नतीजा है जिसमे ये नेता जमानत पर हैं.राहुल गांधी और सोनिया गांधी को निचली अदालत ने 19 दिसंबर, 2015 को जमानत दी थी. स्वामी ने वित्त मंत्री को भी कर चोरी के बारे में याचिका दी थी.

यह भी पढ़ेंः लंदन में नीरव मोदी गिरफ्तार, पीएनबी घोटाले का है मुख्य आरोपी

स्वामी ने निचली अदालत में दायर अपनी शिकायत में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अन्य पर यंग इंडिया के जरिये सिर्फ 50 लाख रुपये का भुगतान कर कांग्रेस पार्टी के स्वामित्व वाले एसोसिएटेड जर्नल्स के 90.25 करोड़ रूपए वसूल करने का अधिकार हासिल करके धोखा और गबन करने की साजिश रचने का आरोप लगाया था.

यह भी पढ़ेंः 20 साल बाद बिल गेट्स ने फिर किया यह करिश्‍मा, मुकेश अंबानी की यह है पोजीशन

यह भी आरोप है कि यंग इंडिया का 50 लाख रुपये की पूंजी से नवंबर 2010 में सृजन किया गया था और उसने नेशनल हेराल्ड अखबार चलाने वाले एसोसिएटेड जर्नल्स के लगभग सारे शेयर ले लिये थे.आयकर विभाग का कहना था कि यंग इंडिया में राहुल के जो शेयर हैं उससे उन्हें पहले कर निर्धारण के अनुसार करीब 68 लाख रुपये की नहीं बल्कि 154 करोड़ रूपए की आमदनी होगी. आय कर विभाग पहले ही यंग इंडिया को कर निधारण वर्ष 2011-12 के लिये 249.15 रूपए की मांग का नोटिस जारी कर चुका है.

First Published : 20 Mar 2019, 03:07:36 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.