News Nation Logo

चर्चित गायक अदनान सामी को मिला पद्मश्री, कांग्रेस ने बताया,‘चमचागिरी का जादू’

News State | Edited By : Yogesh Bhadauriya | Updated on: 27 Jan 2020, 02:06:40 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit: News State)

Madhya Pradesh:  

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कार विजेताओं के नाम की घोषणा की गई. विजेताओं की लिस्ट में सात पद्म विभूषण, 16 पद्म भूषण और 118 पद्मश्री विजेताओं के नाम शामिल थे. अब इस पर राजनीति शुरू हो गई है. दरअसल कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने जानेमाने गायक अदनान सामी को पद्मश्री से नवाजे जाने पर नाराजगी जताई है.

जयवीर शेरगिल ने अदनान सामी का पाकिस्तानी सेना से कनेक्शन निकालकर पद्मश्री दिए जाने का विरोध किया. शेरगिल ने इस अवॉर्ड को भारतीय जनता पार्टी (BJP) की 'चमचागिरी' के एवज में इनाम तक बताया है. इस पर अदनान सामी ने पलटवार भी किया है. उधर, कांग्रेस इस मुद्दे पर दो हिस्सों में नजर आ रही है. जयवीर शेरगिल, जहां अदनान को पद्मश्री दिए जाने पर विरोध कर रहे हैं, वहीं पार्टी नेता दिग्विजय सिंह ने अदनान सामी को अवॉर्ड पर बधाई दी है.

यह भी पढ़ें- मध्यप्रदेश को नए रेल बजट में मिलेगी कई ट्रेनों की सौगात, पर्यटकों को मिलेगी सहूलियत

दिग्विजय सिंह सभी पद्मश्री विजेताओं को दी बधाई

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने सभी पद्मश्री पदक विजेताओं को बधाई देते हुए कहा है, 'मैं बहुत खुश हूं कि चर्चित गायक, संगीतकार, मुस्लिम शरणार्थी अदनान सामी को पद्मश्री अवॉर्ड दिया गया है. मैंने भी उन्हें (अदनान) भारतीय नागरिकता देने के लिए भारत सरकार से पैरवी की थी. उन्हें मोदी सरकार द्वारा भारत की नागरिकता दी गई.'

'पाकिस्तान कनेक्शन' से अदनान पर सवाल

बता दें कि कांग्रेस नेता जयवीर शेरगिल ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट से एक विडियो ट्वीट किया है. इस विडियो में उन्होंने कहा है, 'एक हिंदी की कहावत है कि मेरे पैरों के छालों जरा लहू उगलो, मेरा वतन मेरे सफर के निशान मांग रहा है. आज मोहम्मद सनाउल्लाह, जो भारतीय सेना के वीर सिपाही, जिन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ कारगिल की लड़ाई लड़ी, उन्हें एनआरसी कानून द्वारा घुसपैठिया घोषित कर दिया गया. उधर, अदनान सामी, जिनके पिता पाकिस्तान वायुसेना के अफसर, जिन्होंने हिंदुस्तान पर गोला-बारूद बरसाया, उन्हें पद्मश्री से नवाज दिया गया.'

अदनान को बताया बीजेपी का 'चमचा'

कांग्रेस नेता ने कहा, 'इसमें तीन सवाल खड़े होते हैं कि आज भारत के सिपाही को अपनी नागरिकता का सबूत देना पड़ रहा है, पाकिस्तान वायुसेना के पुत्र को पद्मश्री से क्यों नवाजा जा रहा है. क्या पद्मश्री पाने के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की चमचागिरी जरूरी है? क्या यह नए भारत का निर्माण है?'

अदनान ने किया पलटवार

इस पर अदनान सामी ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट से पलटवार करते हुए ट्वीट किया, 'अरे बच्चे, क्या तुमने 'क्लियरेंस सेल' से दिमाग खरीदा है या फिर किसी पुरानी चीजों की दुकान से? क्या तुम्हें बर्कले में उन्होंने यही सिखाया है कि माता-पिता के कामों का जिम्मेदार उनका बेटा होता है? क्या तुम वकील हो? क्या तुमने यही लॉ स्कूल में सीखा है?'

NCP नेता ने उठाया सवाल

अदनान सामी को पुरस्कार दिए जाने पर महाराष्ट्र के मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता नवाब मलिक ने कहा है, 'यह स्पष्ट है कि यदि कोई पाकिस्तान का शख्स मोदी की जय के नारे लगाता है तो उसे देश की नागरिकता दे दी जाएगी और पद्मश्री अवॉर्ड भी मिलेगा. यह देश के लोगों का अपमान है.'



गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कार विजेताओं के नाम की घोषणा की गई. विजेताओं की लिस्ट में सात पद्म विभूषण, 16 पद्म भूषण और 118 पद्मश्री विजेताओं के नाम शामिल थे. अब इस पर राजनीति शुरू हो गई है.

First Published : 27 Jan 2020, 02:00:46 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

26 JANUARY PM MODI