News Nation Logo
Banner

बाढ़ का जायजा लेने गए मंत्री नरोत्तम मिश्रा खुद फंसे, करना पड़ा एयरलिफ्ट

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के लिए प्रदेश के गृहमत्री नरोत्तम मिश्रा खुद निकले. बुधवार को नरोत्तम मिश्रा दतिया में बाढ़ प्रभावित एरिया का जायजा लेने पहुंचे. लेकिन वो खुद बाढ़ के बीच में फंस गए.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 05 Aug 2021, 07:15:03 AM
Narottam Mishra

बाढ़ का जायजा लेने गए मंत्री नरोत्तम मिश्रा खुद फंसे (Photo Credit: ANI)

highlights

  • बाढ़ से बेहाल मध्य प्रदेश
  • मंत्री नरोत्तम मिश्रा बाढ़ का जायजा लेते वक्त फंसे
  • वायुसेना के हेलिकॉप्टर से मंत्री को करना पड़ा एयरलिफ्ट

नई दिल्ली :  

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) इन दिनों बाढ़ की मार झेल रहा है. प्रदेश के शिवपुरी, श्योपुर, ग्वालियर और दतिया में लगातार हो रही बारिश से लगभग 1,171 गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं. शिवपुरी में 200 से ज्यादा गांव जलमग्न हो गए हैं. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के लिए प्रदेश के गृहमत्री नरोत्तम मिश्रा खुद निकले. बुधवार को नरोत्तम मिश्रा दतिया में बाढ़ प्रभावित एरिया का जायजा लेने पहुंचे. लेकिन वो खुद बाढ़ के बीच में फंस गए. जिन्हें वायुसेना की मदद से एयरलिफ्ट करना पड़ा. 

बताया जा रहा है कि नरोत्तम मिश्रा हवाई दौरा कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कोटरा गांव के एक घर पर कुछ लोगों फंसे हुए देखा. जिसके बाद नरोत्तम मिश्रा खुद घर की छत पर उतर गए. इसके बाद वहां फंसे लोगों को सुरक्षित निकलवाया गया. लेकिन मंत्री मिश्रा खुद फंस गए. जिसके बाद गृहमंत्री को वायुसेना से एयरलिफ्ट कर वहां से निकाला गया. 

इधर, प्रदेश में हो रहे लगातार बारिश और बाढ़ को देखते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान लगातार बैठक और समीक्षा कर रहे हैं. इसके साथ ही लोगों को बचाने के लिए अब सेना की मदद ली जा रही है. ग्वालियर में भारी बारिश और डैम से छोड़े गए पानी की वजह से हालात बेकाबू है. राहत और बचाव में सेना उतरी है.  वायुसेना के हेलीकॉप्टर से लोगों को बचाया जा रहा है. हालांकि बारिश की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन में दिक्कत आ रही है. 

जानकारी के मुताबिक, बचाव अभियान में 22 गांव से अनेक लोगों को बाहर निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पीएम मोदी हर पल की स्थिति की जानकारी ले रहे हैं और राज्य को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है. मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और एसडीआरएफ की टीमों द्वारा अब तक 1,600 लोगों को बचाया गया है, जबकि 200 गांव अभी भी बाढ़ की चपेट में हैं. इसके साथ ही सेना की अब मदद ली जा रही है.

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में 88 फीसदी कम हुई पत्थरबाजी की घटना, गृह मंत्रालय ने जारी किये आंकड़े

बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी सीएम शिवराज सिंह चौहान से बातचीत की थी. शाह ने कहा था कि केंद्र की तरफ से राज्य को हर संभव मदद दी जा रही है.  अभी तक एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और वायुसेना रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी थी. गांवों में फंसे लोगों को नाव से निकाल लिया गया है. बुधवार से सेना भी इसमें लग गई है. 

First Published : 05 Aug 2021, 07:15:03 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.