News Nation Logo
Banner

नकली कोरोना वैक्सीन को लेकर MP सरकार सख्त, दोषियों को भुगतना होगा दर्दनाक अंजाम

बीते 10 दिसंबर को ग्वालियर के अपोलो अस्पताल में मनोज अग्रवाल नाम के एक कारोबारी की नकली प्लाज्मा की वजह से मौत हो गई थी.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 23 Dec 2020, 12:04:33 PM
corona vaccine

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

जहां एक ओर कोरोना वायरस के तांडव के बीच वैक्सीन की मांग तेज होती जा रही है, वहीं दूसरी ओर नकली वैक्सीन की भी खबरें आने लगी हैं. जी हां, मध्यप्रदेश सरकार को मिली सूचना के मुताबिक राज्य में कोरोना वैक्सीन को लेकर एक बड़ा फर्जीवाड़ा हो सकता है. मामले की गंभीरता को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार एक्शन में आ गई है.

ये भी पढ़ें- 24 घंटे में कोरोना वायरस के 23,950 नए मामले, 333 लोगों ने गंवाई जान

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को कैबिनेट की अहम बैठक बुलाई, जिसमें फैसला लिया गया कि कोरोना वैक्सीन के फर्जीवाड़े में पकड़े जाने वाले दोषियों को आजीवन कारावास की सजा दी जाएगी. मंगलवार को हुई बैठक में मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि WHO को इंटरपोल से जानकारी मिली थी कि कोरोना वैक्सीन को लेकर बड़ा फर्जीवाड़ा हो सकता है.

ये भी पढ़ें- सरकार अगले हफ्ते दे सकती है ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी

मामले पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि राज्य सरकार किसी भी सूरत में अपने नागरिकों को खतरे में नहीं डाल सकती है. मंत्री ने बताया कि अभी हाल ही में ग्वालियर में प्लाज्मा बेचने का भी मामला सामने आया था, जो एक गंभीर अपराध है. बताते चलें कि बीते 10 दिसंबर को ग्वालियर के अपोलो अस्पताल में मनोज अग्रवाल नाम के एक कारोबारी की नकली प्लाज्मा की वजह से मौत हो गई थी.

First Published : 23 Dec 2020, 12:04:33 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.