News Nation Logo
Banner

Corona Crisis: शिवराज सिंह ने मध्य प्रदेश के तीन शहरों भोपाल, इंदौर और उज्जैन पूरी तरह सील किए

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने राज्य के तीन मुख्य शहरों भोपाल, इंदौर और उज्जैन में कोरोना वायरस के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए इन तीन शहरों को सील करने का आदेश दे दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 09 Apr 2020, 01:38:44 AM
shivraj singh

शिवराज सिंह चौहान (Photo Credit: फाइल)

नई दिल्ली:  

देश में कोरोनावायरस (Corona Virus) के बढ़ते संक्रमण ने सबके माथे पर चिंता की लकीरों को और भी गाढ़ा कर दिया है. कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बाद अब मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने राज्य के तीन मुख्य शहरों भोपाल, इंदौर और उज्जैन में कोरोना वायरस के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए इन तीन शहरों को सील करने का आदेश दे दिया है.

मध्य प्रदेश में बढ़ते हुए कोविड -19 (COVID-19) के संक्रमण को देखते हुए सूबे के मुखिया शिवराज सिंह ने बुधवार को आदेश दिया कि प्रदेश के तीन शहरों में जहां कोरोना वायरस के संक्रमण के ज्यादा मामले पाए गए हैं उन्हें सील कर दिया जाए. आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के तीन मुख्य शहरों भोपाल, इंदौर और उज्जैन को पूरी तरह सील करने के आदेश दे दिए गए हैं. इनके अलावा इनके निकटवर्ती दूसरे जिलों में भी संक्रमित क्षेत्रों को सील करने का आदेश दे दिया गया.

सीएम शिवराज सिंह ने तीनों शहरों को सील करने के बाद कहा कि इन क्षेत्रों में जिला प्रशासन आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करे और जिले के बाहरी लोगों की आवाजाही पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाए. लोगों की आवश्यकताओं को देखते हुए सरकार ने इलाके में समान की होम डिलीवरी की व्यवस्था प्रशासन को करने की जिम्मेदारी दे दी है. सीएम ने कहा कि कोरोना बीमारी को छिपाने वाले व्यक्ति के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

मास्क लगाकर ही घर से निकलें : शिवराज सिंह
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए यहां के तीन शहरों को सील कर दिया है. इसके अलावा कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सीएम शिवराज सिंह ने जनता से अपील की है कि कोविड-19 के संक्रमण से बचने के लिए हर व्यक्ति मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलें. बता दें कि इंदौर में अबतक कुल 213 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं और इनमें से 16 की मौत हो चुकी है. जबकि उज्जैन में कोरोना वायरस के संक्रमण से 5 लोगों की और भोपाल में कोरोना के 94 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें एक शख्स की मौत हुई है.

यह भी पढ़ें-नर्स की रोती बेटी का वीडियो viral, सीएम येदियुरप्पा ने नर्स के सेवा भाव को किया सलाम

पिछले 24 घंटों में इंदौर में 40 नए मामले
पिछले 24 घंटों में इंदौर में 40 नये मामले सामने आये हैं. स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश में अब तक 29 लोगों की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण से हो चुकी है, जिनमें से इंदौर में 21, उज्जैन में पांच एवं भोपाल, खरगोन एवं छिंदवाड़ा में एक—एक शामिल हैं. रायसेन एवं खंडवा जिलों में पहली बार आज कोविड-19 के एक—एक मरीज आने के बाद मध्य प्रदेश के 52 जिलों में से 16 जिलों में इस महामारी ने अब दस्तक दे दी है. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया, बुधवार रात तक मध्य प्रदेश में कुल 385 कोरोना वायरस संक्रमित पाये गये हैं. प्रदेश में सबसे अधिक 213 कोरोना मरीज इंदौर में मिले हैं, जबकि इसके बाद 94 मरीज भोपाल में, 15 उज्जैन में, 13 मुरैना में, 12—12 खरगोन एवं बड़वानी में, नौ जबलपुर में, छह ग्वालियर में, दो—दो छिंदवाड़ा एवं शिवपुरी में और एक—एक मरीज बैतूल, श्योपुर, रायसेन, खंडवा, होशंगाबाद एवं विदिशा में मिले हैं. कोरोना संक्रमित एक मरीज दूसरे राज्य का है.

यह भी पढ़ें-दिल्ली: घरों से निकलने पर मास्क लगाना अनिवार्य, 20 चिन्हित इलाके सील किए गए

264 मरीजों की हालत स्थिर बनी हुई है
उन्होंने बताया कि इनमें से 25 मरीज अब स्वस्थ हो गये हैं और उन्हें अस्पतालों से डिस्चार्ज कर दिया गया है, वहीं, 264 मरीजों की हालत स्थिर बनी हुई है, जबकि 28 मरीजों की स्थिति गंभीर बनी हुई है. वहीं, इंदौर से मिली रिपोर्ट के अनुसार वहां में कोरोना वायरस संक्रमण की जद में आये छह और मरीजों की मौत का बुधवार को खुलासा किया गया. इसके साथ ही, शहर में इस संक्रमण के बाद दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 21 पर पहुंच गयी है. शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि 47 से 59 वर्ष की उम्र के छह पुरुषों ने पिछले तीन दिन में शहर के अलग-अलग अस्पतालों में इलाज के दौरान दम तोड़ा. इनकी मौत से पहले लिये गये नमूनों की जांच रिपोर्ट से पता चला है कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित थे.

कोरोना या उनसे संपर्क रखने वालों को अलग केंद्रों में भेजा जा रहा है
अधिकारी ने बताया कि इंदौर में कोरोना वायरस संक्रमण के मरीजों की तादाद 173 से बढ़कर 213 पर पहुंच गयी है. शहर में पिछले 24 घंटे में इस महामारी के 40 नये मामले सामने आये हैं. इस बीच, प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि शहर के जिन 11 नये इलाकों में कोरोना वायरस के मरीज मिले हैं, उन्हें कंटेनमेंट एरिया घोषित करते हुए वहां आम लोगों की आवाजाही पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया है ताकि इस महामारी के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. उन्होंने बताया कि इन क्षेत्रों में मिले कोविड-19 मरीजों के परिजनों और उनके संपर्क में आये लोगों को ढूंढकर उन्हें पृथक केंद्रों में भेजा जा रहा है. इंदौर, कोविड-19 के प्रकोप से देश में सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में शामिल है. कोरोना वायरस के मरीज मिलने के बाद से प्रशासन ने 25 मार्च से शहरी सीमा में कर्फ्यू लगा रखा है.

First Published : 09 Apr 2020, 01:38:44 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.