News Nation Logo

मध्य प्रदेश: पीएम आवास योजना का ठेकेदार 7 करोड़ रुपये लेकर भागा, मचा हड़कंप

नगर निगम के अधिकारियों की मिलीभगत से ठेकेदार भोपाल की कंपनी बीआरसी एसोसिएट को 7 करोड़ रुपए से अधिक की राशि दे दी गई है और ठेकेदार अपना काम बंद कर वापस चला गया.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 21 Mar 2021, 02:30:50 PM
मध्य प्रदेश: पीएम आवास का ठेकेदार 7 करोड़ रुपये लेकर भागा, मचा हड़कंप

मध्य प्रदेश: पीएम आवास का ठेकेदार 7 करोड़ रुपये लेकर भागा, मचा हड़कंप (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • मध्य प्रदेश के कटनी में पीएम आवास योजना का ठेकेदार भागा
  • 7 करोड़ की एडवांस पेमेंट लेकर भागा ठेकेदार

कटनी:

मध्य प्रदेश के कटनी में पीएम आवास योजना का लाभ पाने के लिए कई गरीब तबके ने अपने स्वयं के मकान का सपना देख लिया था, लेकिन यह सपना अब सपना ही रह गया. नगर निगम द्वारा झिंझरी में पीएम आवास योजना अंतर्गत 117 करोड़ रुपए की लागत से मल्टी स्टोरी बनवाई जा रही थी लेकिन नगर निगम के अधिकारियों की मिलीभगत से ठेकेदार भोपाल की कंपनी बीआरसी एसोसिएट को 7 करोड़ रुपए से अधिक की राशि दे दी गई है और ठेकेदार अपना काम बंद कर वापस चला गया.

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश में 3 शहरों में लॉकडाउन का असर, अब हर रविवार को रहेगा लागू

कटनी नगर निगम ने पीएम आवास योजना पर 2018 में लोगों से ₹20000 जमा करवाए थे और 2019 में हितग्राहियों को मालिकाना हक देने की बात कही गई थी. लेकिन वर्षों गुजर जाने के बाद भी हितग्राही अभी भी किराए के मकान में गुजर बसर करने को मजबूर हैं. सुधार न्यास कॉलोनी में किराए से रह रही सुनयना कुशवाहा ने बताया कि वह 2018 में एलआईसी के लिए आवेदन दी थी लेकिन उन्हें आज तक आप आवास नहीं मिला है.

ये भी पढ़ें- भारत में तेजी से लौट रहा कोरोना संक्रमण, आज करीब 44 हजार नए मरीज मिले

नगर निगम आयुक्त सत्येंद्र धाकड़ ने कहा कि ठेकेदार द्वारा 1 साल से काम बंद किया है. उस पर कई बिंदुओं पर शिकायत है जिसकी जांच चल रही है. पीडीएमसी द्वारा 7 करोड़ रुपए से ज्यादा राशि का भुगतान किया गया है. ठेकेदार को ज्यादा राशि वापस करने के लिए नोटिस जारी किया गया है.

ये भी पढ़ें- एक्टर मनोज बाजपेयी की पत्नी कोरोनावायरस से हुई संक्रमित 

इस पूरे मामले में कांग्रेस जिलाध्यक्ष मिथिलेश जैन ने सीधे तौर पर भाजपा सरकार में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि हितग्राहियों से लाखों रुपए नगर निगम ने जमा करवा लिया है. लेकिन मौके पर केवल कॉलम बीम खड़ा करवा के ठेकेदार को 7 करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि दे दी गई है. इस मामले में दोषियों पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 21 Mar 2021, 02:30:50 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.