News Nation Logo

एमपी में रोजगार उत्सव की शुरुआत, हर साल 12 लाख युवा को मिलेगी नौकरी

मध्यप्रदेश में हर हाथ को काम मुहैया कराने के मकसद से रोजगार उत्सव की शुरुआत हुई है. मुख्यमंत्री चौहान का कहना है कि युवा बुलंद हौसलों के साथ काम करें, सरकार उनके साथ है.

IANS | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 21 Jan 2021, 08:40:50 AM
सीएम शिवराज सिंह चौहान

सीएम शिवराज सिंह चौहान (Photo Credit: फाइल फोटो)

भोपाल:

 मध्यप्रदेश में हर हाथ को काम मुहैया कराने के मकसद से रोजगार उत्सव की शुरुआत हुई है. मुख्यमंत्री चौहान का कहना है कि युवा बुलंद हौसलों के साथ काम करें, सरकार उनके साथ है. राजधानी के मिंटो हॉल में प्रदेशस्तरीय रोजगार उत्सव का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, कोरोना काल से बिगड़ी अर्थव्यवस्था को तेजी से ठीक करने के प्रयास किए गए हैं. आर्थिक कठिनाइयों का रोना न रोते हुए हमने रास्ते निकाले हैं, यही सरकार और नेतृत्व का दायित्व भी है. आर्थिक गतिविधियों के लिए धन की कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी.

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सरकार के बजट का बड़ा हिस्सा वेतन के वितरण में चला जाता है और इसी बजट से विकास कार्य भी करने होते हैं, लेकिन इससे समझौता नहीं हो सकता. युवाओं को बाजार की मांग और आवश्यकता के अनुरूप प्रशिक्षित करना सरकार की प्राथमिकता है. इसे ध्यान में रखते हुए प्रदेश में अधोसंरचना, कृषि, खाद्य प्र-संस्करण, उद्यानिकी आदि के माध्यम से आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया गया है.

और पढ़ें: खंडवा में पैराग्लाइडिंग हादसे में 2 की मौत, CM शिवराज सिंह चौहान ने जताया शोक

चौहान ने आगे कहा कि खनिजों के दोहन और स्थानीय उत्पाद को प्रोत्साहित करने का कार्य हो रहा है. गत कुछ माह में 100 से अधिक रोजगार मेले भी लगाए गए हैं. हर महीने एक लाख और वर्ष में 12 लाख युवा रोजगार या स्व-रोजगार हासिल कर लें, यह लक्ष्य लेकर कार्य शुरू किया है. नौजवानों को जीविका का साधन उपलब्ध करवा कर नई जिंदगी दें, इसी उद्देश्य के साथ मध्यप्रदेश आत्मनिर्भर बनेगा.

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में 32 लाख नए श्रमिकों को जॉब कार्ड उपलब्ध करवाए गए हैं. करीब 92 लाख श्रमिकों को रोजगार भी दिलवाया गया है. वर्ष 2020-21 में हुआ यह कार्य प्रदेश के इतिहास का सबसे बड़ा रोजगार अभियान भी बन गया.

रोजगार के अवसर सुलभ कराने के लिए किए जा रहे प्रयासों के ब्यौरे में बताया गया है कि कोरोना काल में रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से 46 हजार नियुक्तियां संभव हो सकीं. पोर्टल के माध्यम से 35 हजार नियोक्ता और साम लाख से अधिक प्रवासी श्रमिक एक प्लेटफार्म पर आकर परस्पर जुड़ सके हैं. पुलिस में भर्ती के साथ ही अन्य विभागों के करीब पांच हजार रिक्त पद भरने की प्रक्रिया को गति दी गई है. शहरी और ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स को ब्याज मुक्त ऋण दिलवाया गया है.

सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वी.डी. शर्मा ने कहा कि प्रदेश में 138 रोजगार मेलों के माध्यम से बड़ी संख्या में युवाओं को उनकी योग्यता के अनुरूप रोजगार दिलवाने में इस साल सफलता मिली है. निश्चित ही यह बड़ी उपलब्धि है. इसके अलावा मुख्यमंत्री चौहान ने विभिन्न तरह के हितग्राहियों के खातों में राशि जमा करवाने की व्यवस्था कर लाखों परिवारों की आर्थिक मुश्किलों को दूर करने का कार्य किया है. इस समारोह में राज्य सरकार के कई मंत्री मौजूद रहे.

First Published : 21 Jan 2021, 08:40:50 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.