News Nation Logo

इंदौर में आरएसएस के कार्यकारिणी बैठक का आखिरी दिन आज, मोहन भागवत मौजूद

संघ प्रमुख मोहन भागवत और सरकार्यवाह भैय्याजी समेत आरएसएस के प्रमुख पदाधिकारी देशभर के अलग-अलग राज्यों से आए प्रतिनिधियों से सामने-सामने चर्चा कर चुके हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Vikas Kumar | Updated on: 07 Jan 2020, 03:15:24 PM
RSS Executive Meeting

RSS Executive Meeting (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • इंदौर (Indore) में चल रही राष्ट्रीय स्वयंसेवक (RSS) संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी की बैठक का आज आखिरी दिन है.
  • आज संघ के साल भर के आयोजनों पर मुहर लगेगी और कैलेंडर (Calendar) भी जारी किया जाएगा. 
  • आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह बैठक पिछले दो दिनों से जारी है और इस मीटिंग में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हो चुकी है. 

इंदौर:  

इंदौर (Indore) में चल रही राष्ट्रीय स्वयंसेवक (RSS) संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी की बैठक का आज आखिरी दिन है. आज संघ के साल भर के आयोजनों पर मुहर लगेगी और कैलेंडर (Calendar) भी जारी किया जाएगा. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह बैठक पिछले दो दिनों से जारी है और इस मीटिंग में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हो चुकी है. बताया जा रहा है कि संघ CAA का मुद्दा अपने पास ही रखेगा क्योंकि ये राष्ट्रवाद (Nationalism) से जुड़ा है.
आज संघ अपनी आगामी एक साल की कार्ययोजना को मंजूरी देगा. संघ प्रमुख मोहन भागवत और सरकार्यवाह भैय्याजी जोशी दो दिन तक बैठक में हुई चर्चा के बिंदुओं को अंतिम मुहर लगाएंगे. इसमें दिल्ली और बिहार में होने वाले चुनाव को लेकर संघ ने अपनी रणनीति तैयार कर ली है जिसे वो अब बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित पदाधिकारियों के सामने रखेगा.

यह भी पढ़ें: विधायक पिता को 'कटघरे' में खड़ा करने वाली साक्षी मिश्रा को अब हुआ पछतावा, कही यह बड़ी बात

संघ प्रमुख मोहन भागवत और सरकार्यवाह भैय्याजी समेत आरएसएस के प्रमुख पदाधिकारी देशभर के अलग-अलग राज्यों से आए प्रतिनिधियों से सामने-सामने चर्चा कर चुके हैं. इसमें हर प्रांत के लिए अलग रणनीति बनाई जा रही है. जिसमें संघ का विस्तार, योजनाओं को गति देने, शिक्षा, सामाजिक योजनाओं, गौरक्षा, आदिवासी उत्थान जैसे मुद्दों पर काम करने के निर्देश दिए गए.

वहीं इस बैठक में राम मंदिर पर भी बड़ा फैसला आ सकता है. बैठक में राम मंदिर, नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और धारा 370 (Article 370) जैसे अहम मुद्दों को घर घर तक पहुंचाने पर भी सहमति बन गई है. कहा जा रहा है कि सीएए को लेकर संघ अब पूरी रणनीति और कार्ययोजना अपने हाथ में रखेगा. वो इसे राष्ट्रवाद से जुड़ा मानकर देश के बड़े तबके को एकजुट करना चाहता है. यही वजह है कि बीजेपी और केंद्र सरकार सीएए पर जागरूकता को लेकर जो काम कर रहे हैं,वो चलते रहेंगे. संघ भी अपने स्तर पर स्वयंसेवकों के जरिए लोगों तक बात पहुंचाएगा.

यह भी पढ़ें: इराक से सैनिकों को वापस बुलाने पर अभी कोई फैसला नहीं : अमेरिकी रक्षा मंत्री एस्पर

इस बैठक में जेएनयू मुद्दा भी छाया रहा. संघ पदाधिकारियों ने घटना में बीजेपी के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की भूमिका और उनके पक्ष को जाना. इसके लिए दिल्ली से एबीवीपी के राष्ट्रीय संगठन मंत्री सुनील आंबेकर और सह संगठन मंत्री रघुनंदन को बुलाया गया था. बैठक में बीजेपी की ओर से राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष शामिल हैं. संघ प्रमुख भागवत और भैय्याजी जोशी ने कुछ विषयों पर बीएल संतोष से अलग से भी चर्चा की है. इस दौरान राम मंदिर, सीएए और धारा 370 जैसे अहम मुद्दों पर सरकार के फैसलों की प्रशंसा की गई और कुछ सुझाव भी दिए गए.

First Published : 07 Jan 2020, 03:15:24 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.