News Nation Logo
Banner

अयोध्या में भूमि पूजन के एक दिन पहले कमलनाथ ने रखा 'हनुमान चालीसा' का पाठ

अयोध्या में भूमि पूजन से पहले मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) 4 अगस्त को हनुमान चालिसा का पाठ करने जा रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 02 Aug 2020, 04:31:10 PM
kamal nath

कमलनाथ (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होने जा रहा है. 5 अगस्त को अयोध्या में भूमि पूजन होगा. इसे लेकर लोगों में खासा उत्साह हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए शिलान्यास करेंगे. इस बीच खबर आ रही है कि मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) 4 अगस्त को हनुमान चालिसा का पाठ करने जा रहे हैं.

अयोध्या में भूमि पूजन के एक दिन पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ अपने आवास पर 'हनुमान चालीसा' का पाठ आयोजित करने जा रहे हैं. मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता भूपेंद्र गुप्ता ने रविवार को इसकी जानकारी दी.

भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि आयोजन पूरी तरह से आध्यात्मिक है. इसे किसी भी अन्य संदर्भ में नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने यह भी बताया कि कमलनाथ भगवान हनुमान के बड़े भक्त हैं. मंगलवार का दिन बहुत खास हैं इसलिए इस दिन धार्मिक आयोजन किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें: देश के 8000 स्थानों की मिट्टी और जल का होगा राम मंदिर भूमि पूजन में उपयोग

कमलनाथ ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से भी अपील की है कि वे मंगलवार को अपने घरों में हनुमान चालीसा का पाठ करें.

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि अप्रैल में हनुमान जयंती के अवसर पर कमलनाथ छिंदवाड़ा में बड़े धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन करना चाहते थे, लेकिन मार्च में अपनी सरकार गिर जाने से मचे सियासी उथल-पुथल के कारण वह ऐसा नहीं कर सके. लेकिन अब वो धार्मिक आयोजन करने जा रहे हैं. कांग्रेस नेता ने बताया कि कुछ साल पहले सांसद रहते हुए उन्‍होंने अपने संसदीय क्षेत्र छिंदवाड़ा में 101 फुट ऊंची भगवान हनुमान की प्रतिमा स्‍थापित की थी.

और पढ़ें: सुशांत राजपूत केस पर बोले केसी त्यागी, CBI जांच के विरुद्ध नहीं लेकिन....

बता दें कि अयोध्या में मंदिर निर्माण पर शनिवार को कमलनाथ ने कहा था कि वह अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण का स्‍वागत करते हैं और मंदिर का निर्माण सभी भारतवासियों की सहमति से हो रहा है.

उन्होंने आगे कहा था कि देशवासियों को लंबे समय से इसकी अपेक्षा और आकांक्षा थी. राम मंदिर का निर्माण हर भारतवासी की सहमति से हो रहा है. ये सिर्फ भारत में ही संभव है.

First Published : 02 Aug 2020, 04:29:03 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×