News Nation Logo
Banner
Banner

कांग्रेस आलाकमान की चुप्पी गंभीर भूल होगी... सिंधिया का तीखा हमला

सिंधिया ने एक ट्वीट कर गांधी परिवार को चेताया है कि पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार की जम्मू-कश्मीर और पाकिस्तान पर टिप्पणी को नजरअंदाज करना भारी भूल होगी.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 26 Aug 2021, 10:08:27 AM
Scindia

पंजाब की रार ने बीजेपी को बी दिया तीखा हमला करने का मौका. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस आलाकमान को लिया आड़े हाथों
  • जम्मू-कश्मीर पर बेवजह के विवाद पर चुप्पी पर साधा निशाना
  • ट्वीट कर की सिद्धू के सलाहकारों पर कार्यवाही की मांग

ग्वालियर:

पंजाब में चल रही उथल-पुथल ने न सिर्फ कांग्रेस आलाकमान को असहज कर दिया है, बल्कि सूबे में कांग्रेस के दो खेमे सीधे-सीधे अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव पर असर डालते नजर आ रहे हैं. अब तो पंजाब में कांग्रेस के अंदरूनी असंतोष और सत्ता संघर्ष ने भारतीय जनता पार्टी को भी हमलावर होने का मौका दे दिया है. हाथ का साथ छोड़कर कमल का फूल थामने वाले और कभी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नजदीकी रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी कांग्रेस आलाकमान को इस मसले पर आड़े हाथों लिया है. उन्होंने एक ट्वीट कर गांधी परिवार को चेताया है कि पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार की जम्मू-कश्मीर और पाकिस्तान पर टिप्पणी को नजरअंदाज करना भारी भूल होगी. 

कार्यवाही की मांग की कांग्रेस आलाकमान से 
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार को एक ट्वीट के जरिये कांग्रेस आलाकमान को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर पर पंजाब कांग्रेस के नेताओं की निंदनीय टिप्पणियों पर कांग्रेस हाई कमान की चुप्पी इन राष्ट्र विरोधी बयानों के साथ उनकी मिलीभगत दर्शाती है. ऐसा प्रतीत होता है कि राष्ट्र की भावनाओं और हमारे सैनिकों के संघर्ष और बलिदान के प्रति उनके मन में कोई आदर नहीं है. इसके साथ ही उन्होंने आगाह किया कि ऐसे नेताओं के बयानों पर कोई भी कार्यवाही किए बगैर और ना ही कोई जिम्मेदारी लिए बगैर ऐसे ही छोड़ देना एक गंभीर भूल होगी.

यह भी पढ़ेंः मुंबई कांग्रेस में अंतर्कलह आई सामने, यूथ विंग के कार्यकारी अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा

थामे नहीं थम रहा कांग्रेस का अंदरूनी असंतोष
गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के एक सलाहकार बलविंदर सिंह माली ने कहा था कि कश्मीर एक अलग देश था. भारत औऱ पाकिस्तान ने उस पर अवैध कब्जा किया था. इनके अलावा दूसरे सलाहकार प्यारे लाल गर्ग ने तो सीधे-सीधे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर हमला बोलते हुए पाकिस्तान की आलोचना पर उन्हें कठघरे में खड़े कर दिया था. जाहिर है इसके बाद पंजाब कांग्रेस के खेमेबंदी और मुखर हो गई. नवजोत सिंह सिद्धू के कैंप ने अमरिंदर सिंह के मुख्यमंत्री बने रहने के औचित्य पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस आलाकमान से गुहार लगाई. हालांकि प्रभारी हरीश रावत ने स्थिति संभालते हुए एक के बाद एक कई बयान दिए, लेकिन असंतोष बढ़ता ही जा रहा है. यहां तक कि अब तो कैप्टन की पत्नी और सांसद परनीत कौर ने भी सिद्धू के खिलाफ मोर्चा खोल लिया है. कह सकते हैं कि कांग्रेस के लिए आसन्न विधानसभा चुनाव से पहले यह अच्छे संकेत नहीं हैं.

First Published : 26 Aug 2021, 10:08:27 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.