News Nation Logo
Banner

मध्य प्रदेश के संविदा कर्मचारियों के लिए आई अच्छी खबर, पढ़ें पूरी जानकारी

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की बिजली कंपनियों में काम करने वाले संविदा कर्मचारियों के लिए यह अच्छी खबर है. मध्य प्रदेश सरकार कुछ ऐसा करने जा रही है जिसे जानकार आप भी खुश हो जाएंगे.

IANS | Edited By : Vikas Kumar | Updated on: 05 Jan 2020, 01:00:28 PM
मध्य प्रदेश के संविदा कर्मचारियों के लिए आई अच्छी खबर

मध्य प्रदेश के संविदा कर्मचारियों के लिए आई अच्छी खबर (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की बिजली कंपनियों में काम करने वाले संविदा कर्मचारियों के लिए यह अच्छी खबर है.
  • बिजली कंपनियों में छह हजार से ज्यादा संविदा कर्मचारी कार्यरत हैं. 
  • आगामी समय में बिजली कंपनियों में अधिकारियों की नियमित भर्ती की प्रक्रिया में संविदा कर्मचारियों के लिए 30 प्रतिशत पद आरक्षित रहेंगे.

भोपाल:  

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की बिजली कंपनियों में काम करने वाले संविदा कर्मचारियों के लिए यह अच्छी खबर है, क्योंकि आगामी समय में नियमित सेवा में भर्ती की प्रक्रिया में संविदा कर्मचारियों की हिस्सेदारी बढ़ेगी. यह सहमति सरकार की मध्यस्थता में बिजली कंपनी और बिजली कर्मचारी संगठन के पदाधिकारियों के बीच हुई बैठक में बनी है. राज्य में बीते सालों में बिजली कंपनियों ने संविदा कर्मचारियों को सेवा से पृथक कर दिया था. इससे शेष संविदा कर्मचारियों में असंतोष था. इन कर्मचारियों की बहाली की अरसे से मांग चल रही थी.

एमपी यूनाईटेड फोरम पॉवर इम्प्लाई एंड इंजीनियर्स के संयोजक वी. के. एस. परिहार ने आईएएनएस को बताया है कि कंपनियों और कर्मचारी संगठन के बीच इस बात पर सहमति बनी है कि बिजली कंपनियों द्वारा सेवा से अलग किए गए संविदा कर्मचारियों को फिर से सेवा में रखने के लिए एक समिति बनाई जाएगी, जो निर्णय करेगी.

यह भी पढ़ें: नए साल में आप भी अमीर बनना चाहते हैं तो अपना सकते हैं ये नियम

इसके साथ ही सरकार की ओर से बिजली कंपनियों से कहा गया है कि किसी भी संविदाकर्मी के विरुद्घ बगैर जांच कार्रवाई नहीं की जाए. वहीं सभी संविदाकर्मियों की नेशनल पेंशन स्कीम के तहत कटौती करने के संबंध में विचार किया जाएगा.

परिहार ने बताया है, "बिजली कंपनियों में छह हजार से ज्यादा संविदा कर्मचारी कार्यरत हैं. आगामी समय में बिजली कंपनियों में अधिकारियों की नियमित भर्ती की प्रक्रिया में संविदा कर्मचारियों के लिए 30 प्रतिशत पद आरक्षित रहेंगे, जबकि पूर्व में यह 25 प्रतिशत था. वहीं कर्मचारियों की भर्ती प्रक्रिया में संविदा कर्मचारियों को 50 फीसदी पदों पर मौका दिया जाएगा, जबकि अभी तक 40 प्रतिशत पद संविदा कर्मचारियों के लिए होते हैं."

यह भी पढ़ें: बुरे वक्त में बहुत काम आएगा ATM कार्ड! सरकार ने नए साल में किए दो बड़े ऐलान

राज्य के ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह की उपस्थिति में शनिवार को हुई इस बैठक में तय किया गया है कि संविदा कर्मचारियों के वेतन में नियमित कर्मचारियों के समान हर साल तीन प्रतिशत की बढ़ोत्तरी होगी. अभी तक एक प्रतिशत रािश ही बढ़ाई जाती है. साथ ही संविदा कर्मचारियों को चिकित्सा सुविधा भी मिलेगी.

First Published : 05 Jan 2020, 12:57:49 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.