News Nation Logo
Banner

CID आफिसर बन किसान और उसके साथियों से ठगे 80 हजार से ज्यादा की रकम

पुलिस के अनुसार सीआईडी पुलिस बनकर तीन आरोपियों ने श्यामपुर सीहोर के रहने वाले किसान और उसके दोस्तों से 83 हजार रुपए लूट लिए.

News State | Edited By : Yogesh Bhadauriya | Updated on: 02 Jan 2020, 01:01:00 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit: News State)

Bhopal:  

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से एक चौकाने वाला मामला सामने आया है. यहां खुद को सीआईडी अफसर बताकर तीन बदमाशों ने लूटपाट की घटना को अंजाम दिया है. पुलिस ने कहा कि इस गैंग (GANG) में एक युवती भी शामिल है. मामला अयोध्या नगर थाना क्षेत्र की है.पुलिस के अनुसार सीआईडी पुलिस बनकर तीन आरोपियों ने श्यामपुर सीहोर के रहने वाले किसान और उसके दोस्तों से 83 हजार रुपए लूट लिए. घटना 26 दिसंबर शाम पांच बजे की है. इस घटना बाद युवक इतने डर गए थे कि उन्होंने पुलिस में शिकायत नहीं की. दरअसल वो आरोपियों को सीआईडी (CID) अफसर ही समझ बैठे. घर पहुंचने पर परिवार ने जब पैसों के बारे में पूछा, तो उन्होंने घटना की जानकारी दी. परिवार ने जब सीआईडी (CID) अफसरों के बारे में पूछताछ की, तो उन्हें शक हुआ.इसके बाद परिवार ने थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई.

यह भी पढ़ें- दिग्विजय सिंह ने पीएम मोदी और अमित शाह को ट्वीट कर उठाया CAA और NRC पर सवाल

फ्लैट में बुलाकर लूटपाट

एएसपी संजय साहू ने बताया कि लूट के मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है.जल्द ही इस गैंग का ख़ुलासा कर दिया जाएगा. श्यामपुर सीहोर के रहने वाले विष्णु मीणा किसान है. वो 26 दिसंबर को अपने दो दोस्तों हेम सिंह और मोहित दांगी के साथ कार में नए टायर डलवाने के लिए भोपाल आया था.पुलिस ने बताया कि विष्णु के एक दोस्त ने निशातपुरा में रहने वाली अपनी एक परिचित युवती को मोबाइल पर कॉल किया.

युवती ने तीनों युवकों को देवलोक अस्पताल के पास नरेला जोड़ स्थित एक किराए के फ्लैट में बुलाया.तीनों जैसे ही फ्लैट पर पहुंचे तो युवती चाय बनाने का झांसा देकर कमरे से बाहर चली गई.उसी दौरान तीन अजनबी युवक कमरे में पहुंचे. तीनों युवक खुद को सीआईडी अधिकारी बता रहे थे.उन्होंने बंदूक निकाली और विष्णु और उसके दोस्तों पर तान दी.आरोपियों ने उनसे 80 हजार रुपए लूट लिए और तीन हजार रुपए ऑनलाइन मोबाइल से ट्रांसफर करवाए.

युवती गिरफ्तार

पता चला है कि गैंग में शामिल युवती पहले युवकों को अपने जाल में फंसाती है.उन्हें अकेले में फ्लैट में बुलाती है. उसके बाद प्लानिंग के तहत उसके तीनों साथी वहां आते हैं और फिर लूटपाट करते हैं. यह आरोपी खुद को पुलिस, सीआईडी अधिकारी बताकर लोगों से लूटपाट करते हैं.किसान विष्णु मीणा के साथ भी इसी तरह से घटना को अंजाम दिया गया. घर लौटने पर जब कार में नए टायर नहीं दिखे, तो विष्णु के परिवार ने उनसे पैसों के बारे में पूछताछ की.

पुलिस ने आरोपी युवती के मोबाइल फोन नंबर के जरिए उसे गिरफ्तार कर लिया. आरोपी युवती के एक साथी का नाम योगेंद्र है.पुलिस अब दूसरी वारदातों के बारे में आरोपियों से पूछताछ कर रही है.

First Published : 02 Jan 2020, 01:01:00 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

MP POLICE LOOT