News Nation Logo
एकनाथ शिंदे ने आगे की रणनीति पर चर्चा के लिए दोपहर 2 बजे गुवाहाटी के होटल में बैठक बुलाई भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 17,073 नए मामले सामने आए दिल्ली हाईकोर्ट के नए मुख्य न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा को आज LG दिलाएंगे शपथ महाराष्ट्र: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुलाई कैबिनेट बैठक, 2.30 बजे होगी मीटिंग असम : एकनाथ शिंदे गुवाहाटी स्थित कामाख्या मंदिर पहुंचे भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 14,506 नए मामले सामने आए महाराष्ट्र: कल होगा फ्लोर टेस्ट, राज्यपाल ने बुलाया विधानसभा का विशेष सत्र असम बाढ़ के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 लाख रुपए दान करेंगे एकनाथ शिंदे बीजेपी के 164 विधायकों का दावा- देवेंद्र फडणवीस कल देर रात सीएम पद का शपथ ले सकते हैं बीजेपी के कोर ग्रुप के सदस्यों और विधायकों की बैठक देवेंद्र फडणवीस के घर शुरू

देवास: चमकी बुखार के संदिग्ध 9 साल के बच्चे की मौत

देवास जिले के खातेगांव के जामनेर गांव के रहने वाले असलम (9) पिता इब्राहिम की रविवार सुबह मौत हो गई.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 23 Jun 2019, 04:12:32 PM
प्रतीकात्मक फोटो।

highlights

  • डॉक्टरों के मुताबिक परिजन अपने मन से बच्चे को ले गए
  • परिजनों का कहना है कि डॉक्टरों ने बच्चे को ले जाने को कहा
  • डॉक्टरों ने अफवाह से बचने को कहा

देवास:  

देवास जिले के खातेगांव के जामनेर गांव के रहने वाले असलम (9) पिता इब्राहिम की रविवार सुबह मौत हो गई. बच्चे को शनिवार रात शासकीय महाराजा यशवंत राव होलकर हॉस्पिटल में चमकी बुखार के संदेह में बाल गहन चिकित्सा ईकाई में भर्ती करवाया गया था.

यह भी पढ़ें- नीमच की घटना पर शिवराज का निशाना, कहा- ''कैदी जेल से फरार हो रहे हैं और सरकार सो रही है''

हॉस्पिटल के रिकॉर्ड में बच्चे को लीव अंगेस्ट मेडिकल एडवाइज होना बताया गया है. बच्चे की मौत के बाद से सरकार हरकत में आ गई है. स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के निर्देश पर प्रशासन की एक टीम को देवास के जामनेर गांव भेजा गया है.

यह भी पढ़ें- मुर्दा देगा गवाही! मर्डर मिस्ट्री ने शव को कब्रिस्तान से निकलवाने पर कर दिया मजबूर

शिशु रोग प्रभारी विभागाध्यक्ष डॉ. प्रीति मालपानी (Preeti Malpani) का कहना है कि बच्चे की हालत क्रिटिकल थी. लेकिन बच्चे को लेकर आए परिजन यह कहकर बच्चे को ले गए कि उसके पिता की तबीयत सही नहीं है. यहां लाने से पहले परिजन बच्चे को किसी अन्य हॉस्पिटल में ले गए थे.

यह भी पढ़ें- दिल्ली से लखनऊ के बीच रेल से सफर करने वाले यात्रियों के लिए आई ये बड़ी खबर, जरूर पढ़ें

जहां बच्चे को चमकी बुखार होना बताया गया था. बच्चे में चमकी बुखार होने की पुष्टि के लिए ब्लड सैंपल पुणे की वायरोलॉजी लैब भेजा गया. डॉ. मालपानी का कहना है कि यह चमकी बुखार जैसा नहीं है. बच्चे में एक्यूट एनसिफेलाइटिस सिंड्रोम (Acute Encephalitis Syndrome) की पहचान की गई है.

बुखार दिमाग पर चढ़ गया था. जब उसे अस्पताल लाया गया तब वह बेसुध हो चुका था. डॉक्टरों ने उन्हें कहा था कि वह बच्चे को न ले जाएं. इस मामले में सुप्रिटेंडेंट पीएस ठाकुर का कहना है कि बच्चा बीमार था. उसकी मौत चमकी बुखआर से नहीं हुई है. चमकी बुखार को लेकर अफवाह फैलाई जा रही है. लेकिन उन पर भरोसा न कीजिए. अगर बच्चे बीमार हों तो बिना समय गंवाए उन्हें अस्पताल ले जाएं.

असलम के मामा हलीम शाह ने इस मामले में कहा कि बीमार बच्चे को घर ले जाने के लिए डॉक्टरों ने कहा था. ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टरों ने सुबह 5 बजे बताया कि बच्चे को अब घर ले जाइए. जिसके बाद हम बच्चे को वापस ले आए. वहीं पिता ने कहा कि अपने बच्चे के बारे में जानकर वह मानसिक रूप से स्वस्थय नहीं हैं.

First Published : 23 Jun 2019, 04:12:32 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.