News Nation Logo

आज सावन महीने का आखिरी सोमवार, बाबा महाकाल के मंदिर में लगा भक्तों का तांता

सावन मास का चौथा और अंतिम सोमवार है. जिसके कारण आज सुबह से ही शिव मंदिरों में भक्तों का तांता लगा हुआ है.

Written By : आशीष सिसोदिया | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 12 Aug 2019, 07:09:58 AM
महाकालेश्वर मंदिर

नई दिल्ली:

सावन मास का चौथा और अंतिम सोमवार है. जिसके कारण आज सुबह से ही शिव मंदिरों में भक्तों का तांता लगा हुआ है. उज्जैन के महाकालेश्वर मन्दिर में दर्शन हेतु श्रद्धालु देर रात से कतार में लगे हुए हैं. तडके 2.30 बजे बाबा महाकाल की भस्मारती शुरू हुई, जिसमें हजारों श्रद्धालुओं ने दर्शन लाभ लिए. सावन मास भगवान भोलेनाथ का सबसे प्रिय माह माना गया है. मान्यता है कि सावन माह में शिव आराधना करने से सभी कष्टों से तुरन्त मुक्ति मिलती है.

यह भी पढ़ें- यूरोप के सबसे ऊंचे पर्वत पर MP की बेटी ने फहराया तिरंगा, दिया बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

सावन के अंतिम सोमवार के दिन आज महाकालेश्वर मंदिर में बाबा महाकाल की विशेष भस्मारती की गई. भस्मारती के पहले बाबा को जल से नहलाकर महा पंचामृत अभिषेक किया गया. जिसमें दूध, दही, घी, शहद और फलों के रसों से अभिषेक हुआ. अभिषेक के बाद भांग और चन्दन से भोलेनाथ का आकर्षक श्रृंगार किया गया. भगवान को वस्त्र धारण कराये गए. तत्पश्चात बाबा को भस्म चढाई गई. भस्मिभूत होने के बाद झांझ-मंजीरे, ढोल-नगाड़े व शंखनाद के साथ बाबा की भस्म आरती की गई. भक्त आज के दिन का विशेष इंतजार करते हैं, इसलिए आज महाकाल के दरबार में सुबह से ही उत्साह और आनंद का माहौल है.

यह भी पढ़ें- अपराध पर अंकुश लगाने के लिए इंदौर पुलिस ने लेगी आधुनिक तकनीक का सहारा, तैयार किए एप

सावन-भादों मास में सोमवार को बाबा महाकाल की सवारी निकाले जाने की भी परंपरा है. इसलिए आज शाम को बाबा की सवारी भी निकाली जाएगी. मान्यता है कि अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए सवारी के रूप में राजा महाकाल नगर भ्रमण पर निकलते है. यहां बाबा की सवारी के दर्शन के लिए लाखों की संख्या में श्रद्धालु सड़कों के किनारे घंटों इन्तजार करते हैं और महाकाल की एक झलक पाकर अपने आप को धन्य मानते हैं.

यह वीडियो देखें- 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 12 Aug 2019, 07:09:58 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.