News Nation Logo
Banner

घोर लापरवाही! अस्पताल में 5 घंटे तक बेड पर पड़ा रहा शव, आंखों को खाती रहीं चींट‍ियां

दरअसल, टीबी के मरीज बालचन्द लोधी का शिवपुरी के जिला अस्पताल में इलाज चल रहा था. लेकिन मंगलवार को उसने दम तोड़ दिया था.

By : Dalchand Kumar | Updated on: 16 Oct 2019, 12:58:16 PM
अस्पताल में 5 घंटे तक बेड पर पड़ा रहा शव, आंखों को खाती रहीं चींट‍ियां

अस्पताल में 5 घंटे तक बेड पर पड़ा रहा शव, आंखों को खाती रहीं चींट‍ियां (Photo Credit: फाइल फोटो)

शिवपुरी:

मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिला अस्पताल से डॉक्टर्स की बड़ी लापरवाही सामने आई है. जहां एक मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई और उसका शव 5 घंटे तक बेड पर पड़ा रहा. इतना ही नहीं, हद तो तब हो गई जब बेड पर पड़े शव में चीटियां लग गईं. मृतक की आंखों में चींट‍ियां घुसती रहीं. ऐसी हालत देखकर वहां मौजूद लोगों ने रोंगटे खड़े हो गए. 

यह भी पढ़ेंः दिवाली बाद शिवराज सिंह चौहान फिर लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ, गोपाल भार्गव का बड़ा बयान

दरअसल, टीबी के मरीज बालचन्द लोधी का शिवपुरी के जिला अस्पताल में इलाज चल रहा था. लेकिन मंगलवार को उसने दम तोड़ दिया था. मरीज के मौत के बाद भी डॉक्टर्स ने शव को वार्ड के बेड से नहीं हटाया. जिसकी वजह से उसके शरीर पर चींटियां चढ़ गईं. जब मृतक के परिजन वहां पहुंचे तो शव की दुर्दशा देख फूट-फूटकर रोने लगे और उसके ऊपर से चींटियों को हटाया. बाद में परिजन जरूरी औपचारिकताएं पूरी कर शव को ले गए.

यह भी पढ़ेंः अपनी ही सरकार की अफसरशाही से परेशान कांग्रेस विधायक, मुख्यमंत्री से मिलकर लगाई गुहार

इस घटना से मध्य प्रदेश में खलबली मच गई है. मामला संज्ञान में आने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने घटना के जांच के आदेश, जांच में दोषी और लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'शिवपुरी में जिला अस्पताल में एक मरीज की मौत होने पर उसके शव पर चींटियां चलने व इस घटना पर बरती गयी लापरवाही की घटना बेहद असंवेदनशीलता की परियाचक. ऐसी घटनाएं मानवता व इंसानियत को शर्मसार करती है, बर्दाश्त कतई नहीं की जा सकती है. घटना के जांच के आदेश, जांच में दोषी व लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश.' 

यह भी पढ़ेंः MP: बीजेपी के बागी विधायक के बदले सुर, पार्टी दफ्तर पहुंचकर ऐसे दी सफाई

कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी घटना पर दुख जताया है. उन्होंने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री  तुलसी सिलावट को निर्देश दिया कि उक्त घटना के लिए जो भी डॉक्टर या कर्मचारी जिम्मेदार हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. सभ्य समाज में इस प्रकार के अमानवीय व्यवहार के लिए कोई स्थान नहीं होना चाहिए. सिंधिया ने कांग्रेसजन को भी तुरंत अस्पताल पहुंचकर मरीज के पार्थिव देह को सम्मान के साथ घर पहुंचाने का प्रबंध करने का निर्देश दिया.

First Published : 16 Oct 2019, 12:58:16 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×