News Nation Logo
Banner

कांग्रेस की गुमराह करने की कोशिश कामयाब नहीं होगी : तोमर

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर कांग्रेस पर हमला बोला है. उनका कहना है कि कांग्रेस सीएए के मामले में जबरन देश के नागरिकों को गुमराह करने में लगी है, मगर उसके मंसूबों को कभी पूरे नहीं होंगे.

IANS | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 06 Jan 2020, 09:58:09 AM
नरेंद्र सिंह तोमर।

नरेंद्र सिंह तोमर। (Photo Credit: फाइल फोटो)

मुरैना:  

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर कांग्रेस पर हमला बोला है. उनका कहना है कि कांग्रेस सीएए के मामले में जबरन देश के नागरिकों को गुमराह करने में लगी है, मगर उसके मंसूबों को कभी पूरे नहीं होंगे. तोमर ने मध्यप्रदेश के मुरैना में प्रबुद्धजनों की संगोष्ठी में रविवार को कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में विकास की बयार ला दी है, आज देश के हर गरीब के पास उसका अपना मकान है, गैस कनेक्शन है, हर घर में बिजली है, पीने का पानी पहुंच रहा है, यह बात कांग्रेस को हजम नहीं हो रही और वह इसे बर्दाश्त नहीं कर पा रही है. इसलिए कांग्रेस मोदी सरकार के हर निर्णय का विरोध कर रही है जो देश हित में है."

यह भी पढ़ें- मोदी टीवी पर आकर करते हैं ध्यान मोड़ने की राजनीति : कमल नाथ

तोमर ने एनआरसी की चर्चा करते हुए कहा, इससे देश के लोगों का कोई लेना देना नहीं है, बांग्लादेश से आए घुसपैठियों से असम की संस्कृति को खतरा था, वहां राजनीतिक परि²श्य को खतरा था. असम के लोग भी चाहते थे कि घुसपैठियों को बहार करो और असम को बचाओ, इसलिए वहां पर एनआरसी लाया गया.

यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश: कचरे से हर साल करीब 4 करोड़ रुपये की कमाई कर रहा है इंदौर शहर

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के बयान का जिक्र करते हुए तोमर ने कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने कहा था कि "हम एनआरसी लाएंगे", सवाल है कि जब राजीव गांधी एनआरसी लाना चाहते थे, तब यह सही था और आज जब मोदी ने कहा कि हम एनआरसी लाएंगे और घुसपैठियों को बाहर करेंगे तब यह गलत कैसे हो गया?

यह भी पढ़ें- रविवार को 2 दिवसीय दौरे के लिए छिंदवाड़ा पहुंचे सीएम कमलनाथ

तोमर ने स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक, 2019 नागरिकता देने का कानून है, नागरिकता लेने का नहीं. सीएए के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से धार्मिक आधार पर प्रताड़ित होने वाले हिंदू, सिख, ईसाई, जैन, बौद्ध और पारसियों को भारत सरकार ने नागरिकता देने के लिए यह कानून बनाया है. यह न तो संविधान विरोधी है और न ही मुस्लिम विरोधी.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सिर्फ तुष्टीकरण की राजनीति और अपने हित साधने के लिए इस कानून का दुष्प्रचार कर रही है.

First Published : 06 Jan 2020, 09:52:05 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.