News Nation Logo
Banner

मुस्लिमों को सदस्यता अभियान से जोड़ने के लिए मस्जिदों के बाहर स्टॉल लगाएगी बीजेपी

मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की नजर अब अल्पसंख्यक वोट बैंक पर है. इसके लिए पार्टी मुस्लिम बस्तियों में जाकर अपने सदस्यता अभियान का प्रचार करेगी.

By : Dalchand Kumar | Updated on: 14 Jul 2019, 11:40:02 AM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) समाज के हर वर्ग को अपने से जोड़ने की कोशिश में लगी हुई है. पार्टी का उन वर्गों पर खास जोर है, जो अब तक पार्टी का वोट बैंक नहीं बन पाए हैं. बीजेपी उन वर्गों तक अपनी पैठ बनाना चाह रही है, जहां उसका जनाधार अभी कमजोर है. इसी वजह से मध्य प्रदेश में बीजेपी अपने सदस्यता अभियान के जरिए मुस्लिमों को पार्टी से जोड़ने की तैयारी में है.

यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश सरकार ने किए कुत्तों के तबादले, रेणु और सिकंदर करेंगे सीएम हाउस की सुरक्षा

मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की नजर अब अल्पसंख्यक वोट बैंक पर है. इसके लिए पार्टी मुस्लिम बस्तियों में जाकर अपने सदस्यता अभियान का प्रचार करेगी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी अपने सदस्यता अभियान के लिए मस्जिदों के बाहर स्टॉल भी लगाएगी. जहां मुस्लिम वोट निर्णायक भूमिका में है, वहां पर ज्यादा फोकस किया जाएगा. इस सबके जरिए भारतीय जनता पार्टी का एकमात्र मकसद मुस्लिमों को पार्टी से जोड़ना है.

यह भी पढ़ें- जितनी ज्यादा वसूली उतना अधिक ईनाम, बिजली चोरी की सूचना देने वाले होंगे पुरस्कृत

मुस्लिम समुदाय को पार्टी से जोड़ने की जिम्मेदारी बीजेपी के सदस्यता अभियान के राष्ट्रीय प्रभारी और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद अपने कंधों पर उठाएंगे. हालांकि शिवराज सिंह चौहान पहले भी हर वर्ग तक पहुंच बनाने की बात कह चुके हैं. अभियान की शुरुआत से पहले शिवराज सिंह ने कहा था कि इस सदस्यता अभियान को संगठन पर्व के रूप में मनाकर पार्टी का विस्तार करना है. अपने पराक्रम और परिश्रम से समाज के हर वर्ग तक पहुंचकर नए सदस्य जोड़ने हैं.

यह भी पढ़ें- प्रशासन ने सचिव की जगह कर दिया सरपंच का तबादला, अब हो रही है जमकर किरकिरी

पार्टी नेताओं को यही लगता है कि मुस्लिम वोट प्रतिशत काफी कम रहा था, लिहाजा अब अल्पसंख्यक बस्तियों में जाकर नए सदस्य बनाने की जरूरत है. गौरतलब है कि 2018 विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की हार का सबसे बड़ा कारण अल्पसंख्यक वोट था. विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की तुलना में बीजेपी को अल्पसंख्यकों के कम वोट मिले थे. 2019 के लोकसभा चुनाव में यही स्थिति रही थी.

यह वीडियो देखें- 

First Published : 14 Jul 2019, 11:40:02 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो