News Nation Logo
Banner

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बोले- कोरोना वैक्सीन मिलते ही शुरू करेंगे टीकाकरण, तबतक...

कोरोना के कहर के बीच सबकी निगाहें वैक्सीन पर टिकी हैं. सरकार भी इसको लेकर पूरा जोर लगा रही है. बताया जा रहा है कि अगले दो महीनों में व्यापक रूप से वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 24 Nov 2020, 04:08:55 PM
shivraj singh chauhan

shivraj singh chauhan (Photo Credit: फाइल फोटो)

भोपाल:

कोरोना के कहर के बीच सबकी निगाहें वैक्सीन पर टिकी हैं. सरकार भी इसको लेकर पूरा जोर लगा रही है. बताया जा रहा है कि अगले दो महीनों में व्यापक रूप से वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी. सभी को कम लागत पर टीकाकरण अभियान के तहत वैक्सीन मिलेगी. इस दौरान मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हम वैक्सीन के लिए कोल्ड चेन स्टोरेज सुविधाओं के साथ तैयार हैं. टीके लगाने वाले स्वास्थ्य कर्मचारियों का प्रशिक्षण चल रहा है. जैसे ही हमें वैक्सीन मिलेगी, टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा. तब तक उन्होंने सभी लोगों से अपील की है कि COVID-19 के दिशानिर्देशों का पालन करते रहें.

वहीं पीएम मोदी मंगलवार को आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. कोरोना वायरस को लेकर सबसे प्रभावित राज्यों के सीएम के साथ पीएम मोदी ने वर्चुअल बैठक की. पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया की हर वैक्सीन पर सरकार की नजर है. लेकिन अभी हमें सतर्कता बरतनी होगी. इसके साथ ही पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से वैक्सीन वितरण को लेकर प्लान भी मांगा है.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत सरकार वैक्सीन के प्रत्येक चरण पर नजर रख रही है. हम भारतीय वैक्सीन डेवलपर्स और निर्माताओं के संपर्क में हैं. हम वैश्विक नियामकों, अन्य देशों की सरकारों, बहुराष्ट्रीय संगठनों और अंतरराष्ट्रीय कंपनियों के साथ भी संपर्क में हैं. उन्होंने आगे बताया कि यह निश्चित नहीं है कि टीके की एक, दो या तीन खुराकें होंगी या नहीं. यह भी तय नहीं किया गया है कि वैक्सीन की कीमत क्या होगी. हमारे पास अभी भी इन सवालों के जवाब नहीं हैं.

पीएम मोदी ने आगे राज्यों को कहा कि कोविड 19 वैक्सीन के लिए राज्यों को कोल्ड स्टोरेज सुविधाएं स्थापित करने की जरूरत है. इसके साथ ही उन्होंने राज्यों को सतर्कता बरतने की भी सलाह दी. उन्होंने कहा कि हम सभी को पहले से भी अधिक जागरूक रहने की जरुरत है. हमें ट्रांसमिशन को कम करने के लिए आने प्रयासों को और गति देने की जरूरत है. पीएम मोदी ने आगे कहा कि मैं राज्यों से आग्रह करता हूं कि वे जल्द से जल्द विस्तृत योजनाएं भेजें कि कैसे वे अंतिम छोर तक वैक्सीन ले जाने की योजना बनाते हैं. यह निर्णय लेने में हमारी मदद करेगा क्योंकि आपके अनुभव मूल्यवान हैं. 

First Published : 24 Nov 2020, 03:56:13 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.