News Nation Logo
Banner

कृषि कानून पर रार के बीच किसानों को करोड़ों का चूना, फसल लेकर चंपत हुई कंपनी

एक कंपनी ने दर्जनों किसानों को चूना लगाया है. बताया जा रहा है कि करीब 2 करोड़ रुपये की फसल खरीदने के बाद कंपनी बिना किसानों की कीमत चुकाए चंपत हो गई है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 30 Dec 2020, 03:28:58 PM
farmers

किसानों को बिना भुगतान किए करोड़ों की फसल लेकर चंपत हुई कंपनी (Photo Credit: फाइल फोटो)

हरदा:

कृषि कानून पर घमासान मचा है. प्रधानमंत्री से लेकर बीजेपी के मुख्यमंत्री और मंत्री तक किसानों को आश्वासन दे रहे हैं. लेकिन नए कानूनों के खिलाफ आंदोलन की लड़ाई के बीच मध्य प्रदेश के हरदा जिले से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने सारे दावों की पोल खोल दी है. यहां एक कंपनी ने दर्जनों किसानों को चूना लगाया है. बताया जा रहा है कि करीब 2 करोड़ रुपये की फसल खरीदने के बाद कंपनी बिना किसानों की कीमत चुकाए चंपत हो गई है.

यह भी पढ़ें: अब मिलावट करने पर आजीवन कारावास, एक्सपायरी दवा भी दायरे में 

बताया जा रहा है कि हरदा के देवास शहर में खोजा ट्रेडर्स कंपनी ने कई किसानों के साथ फसल खरीद का समझौता किया था, जो करीब 2 करोड़ रुपये का था. यह समझौता मसूर और चना की फसल की खरीद के लिए किया गया. जिसके तहत किसानों से फसल खरीदकर कंपनी ले गई, मगर जब भुगतान की बारी आई तो कंपनी बिना भुगतान किए गायब हो गई. हालांकि जब कंपनी के बारे में किसानों ने जांच पड़ताल की तो उनके पैरों तले जमीन घिसक गई.

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में 'लव जिहाद' पर लगेगी लगाम! धर्म स्वातंत्र्य अध्यादेश को मिली मंजूरी 

छानबीन करने पर किसानों को पता चला कि जिस कंपनी को उन्होंने फसल बेटी, उन्होंने तीन महीने के अंदर ही अपनी कंपनी का रजिस्ट्रेशन खत्म कर दिया. इसके बाद किसानों ने अब पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई है. किसानों ने प्रशासन को भी लिखित शिकायत दी है. इस दौरान किसानों की ओर से दावा किया गया है कि आसपास के इलाकों में करीब 100-150 किसानों के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है.  

First Published : 30 Dec 2020, 03:28:58 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.